हाइकू रचना : ईश्वर...


हाइकू 10
 
 
1. आभास
व्यापक है सर्वत्र
हृदय वास।
 
2. ईमानदारी
सर्वोत्तम भावना
रूप।
 
3. ईश्वर वृत्त
प्रकाशित सर्वत्र
प्रसन्न चित्त।
 
4. समस्त विश्व
परिपूर्ण ईशत्व
प्रकाश तत्व।
 
5. बुद्धि से परे
आत्मा का अनुभव
अपरिभाषित।
 
6. कुरान सार
अल्लाह की प्रार्थना
आखिरी सच।
 
7. ईश है सत्य
जड़-चेतन व्याप्त
एकोविश्वस्य।
 
8. विष्णु पालक
ब्रह्मा रूप सर्जक
शिव न्यायिक।
 
9. अटल सत्य
नास्तिक भी उसका
आराधक भी।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :