बाल कविता : चलो मंगल ग्रह में




हम भी भेज दिए हैं बच्चों
को यह संदेश
सकल जहां से कम नहीं है
अपना प्यारा भारत देश

मंगल ग्रह के राजा को हम
देश का हाल सुनाएंगे
देश कैसे बढ़ेगा आगे
सबक यही सीख आएंगे
मंगल वाले दुनिया का सच
चहुं ओर बगराएंगे
चलो-चलें जी मंगल ग्रह में,
हम सबको समझाएंगे

यहां बढ़ रही है जनसंख्या
चलो वहां सब जाएंगे
मंगल ग्रह की नगरी में हम
गीत खुशी के गाएंगे

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :