राजस्थान रॉयल्स को हर हाल में चाहिए जीत, इन खिलाड़ियों पर टिकी है मुंबई की उम्मीद

जयपुर| पुनः संशोधित शुक्रवार, 19 अप्रैल 2019 (15:08 IST)
जयपुर। खराब फार्म से जूझ रही की टीम शनिवार को यहां मुंबई के खिलाफ दूसरी जीत दर्ज करके इंडियन प्रीमियर लीग में अपना अभियान पटरी पर लाने की कोशिश करेगी।
राजस्थान को हर हाल में यह मैच जीतना ही होगी। दूसरी
ओर मुंबई की उम्मीद रोहित शर्मा, क्विंटन डिकाक, हार्दिक, कृणाल और कीरोन पोलार्ड जैसे खिलाड़ियों पर टिकी हुई है। मुंबई के पास जसप्रीत बुमराह और श्रीलंका के अनुभवी लसिथ मलिंगा के रूप में डेथ ओवरों के दो सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज हैं।

आठ मैचों में छह हार और सिर्फ दो जीत के बाद टीम आठ टीमों की तालिका में सातवें स्थान पर चल रही है और मेजबान टीम यहां जीत दर्ज करने अपने अभियान में नई जान फूंकने का प्रयास करेगी। रॉयल्स की टीम ने पिछले शनिवार को मुंबई को उसी के मैदान पर हराया था और टीम इस प्रदर्शन को शनिवार को भी दोहराने की कोशिश करेगी।
सवाई मानसिंह स्टेडियम पर हालांकि राजस्थान रॉयल्स के खराब रिकॉर्ड के कारण टीम की राह आसान नहीं होगी। रायल चैलेंजर्स बेंगलोर के खिलाफ इस मैदान पर एकमात्र जीत दर्ज करने के अलावा टीम ने मौजूदा सत्र में अपने बाकी तीनों घरेलू मैच गंवाए हैं।

इंग्लैंड के जोस बटलर ने रायल्स की ओर से उम्दा बल्लेबाजी की है। उनकी 43 गेंद में 89 रन की पारी की बदौलत रायल्स ने मुंबई को चार विकेट से हराया था लेकिन बाकी बल्लेबाज या तो रन बनाने के लिए जूझ रहे हैं या फिर उनके प्रदर्शन में निरंतरता नहीं है। मौजूदा सत्र का पहला शतक जड़ने वाले संजू सैमसन भी पिछली कुछ पारियों में नाकाम रहे हैं।
कप्तान अजिंक्य रहाणे भी अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में तब्दील नहीं कर पा रहे हैं। उनका पिछले मैच में मध्यक्रम में बल्लेबाजी करने का फैसला भी फायदेमंद साबित नहीं हुआ और टीम मोहाली में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ 182 रन के लक्ष्य का पीछा करने में विफल रही।

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ और इंग्लैंड के आलराउंडर बेन स्टोक्स भी उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे हैं। गेंदबाजी में तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर और स्पिनर श्रेयस गोपाल ने प्रभावित किया है लेकिन उन्हें अन्य गेंदबाजों का उचित साथ नहीं मिला है विशेषकर डेथ ओवरों में।
पिछले मैच में टीम ने स्टुअर्ट बिन्नी और एश्टन टर्नर को मौका दिया था। बिन्नी ने कुछ अच्छे शाट खेले लेकिन टर्नर खाता खोलने में भी नाकाम रहे। पारी का आगाज करने उतरे राहुल त्रिपाठी ने 45 गेंद में 50 रन बनाए लेकिन अर्धशतक पूरा करते ही अपना विकेट विरोधी टीम को तोहफे में दे दिया।

दूसरी तरफ मुंबई की टीम आक्रामक बल्लेबाजों, स्तरीय गेंदबाजों और प्रभावी आलराउंडरों की मौजूदगी में काफी मजबूत लग रही है। गुरुवार रात दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ 40 रन की जीत के बाद टीम अंक तालिका में दूसरे स्थान पर चल रही है और राजस्थान के खिलाफ पहले मैच में मिली हार का बदला चुकता करके प्ले आफ में जगह बनाने के करीब पहुंचने की कोशिश करेगी।
कप्तान रोहित शर्मा और क्विंटन डिकाक की सलामी जोड़ी टीम को उम्दा शुरुआत दिला रही है जबकि पंड्या बंधुओं हार्दिक और कृणाल के अलावा कीरोन पोलार्ड डेथ ओवरों में प्रभावी बल्लेबाजी कर रहे हैं। मुंबई के पास जसप्रीत बुमराह और श्रीलंका के अनुभवी लसिथ मलिंगा के रूप में डेथ ओवरों के दो सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज हैं।

युवा स्पिनर राहुल चाहर ने दिल्ली के खिलाफ पिछले मैच में तीन विकेट चटकाकर टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई थी जबकि कृणाल भी बल्लेबाजों को परेशान करने में सफल रहे।
दोनों टीमें अब तक 22 बार एक दूसरे से भिड़ी हैं जिसमें मुंबई ने 11 जबकि रॉयल्स ने 10 मैचों में जीत दर्ज की है। दोनों टीमों के बीच 2009 में एक मैच बारिश की भेंट बढ़ गया था। मैच शाम चार बजे शुरू होगा। (भाषा)


 

और भी पढ़ें :