'आतंकियों के हाथ लग सकते हैं पाकिस्तान के 9 ठिकानों पर छिपे परमाणु हथियार'

पुनः संशोधित सोमवार, 25 सितम्बर 2017 (08:40 IST)
नई दिल्ली। की जो ताजा रिपोर्ट सामने आई है उसके अनुसार पाकिस्तान ने अपने परमाणु हथियार को नौ अलग-अलग ठिकानों पर जमा किया हैं। पाकिस्तान के जाने माने परमाणु हथियारों के एक्सपर्ट और लेखक हैंस क्रिस्टेंसन का कहना है कि पाकिस्तान के परमाणु हथियार सैन्य ठिकानों के पास तैनात हैं और यह ये ठिकानें इन परमाणु हथियारों के इस्तेमाल में प्रयोग लाए जा सकते हैं। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि इन ठिकानों पर लॉन्च बेस है, जो इस बात के साफ संकेत देते हैं कि पाकिस्तान के परमाणु हथियारों को अलग-अलग ठिकानों तैनात किया गया है।
टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार क्रिस्टेंसन का कहना है कि पाकिस्तान शॉर्ट रेंज सब स्ट्रैटेजिक परमाणु हथियार का निर्माण कर रहा था, लिहाजा इन परमाणु हथियारों को लॉन्च करने के लिए अलग-अलग ठिकानों पर वारहेड को बनाया गया है, जहां इन हथियारों को लॉन्च किया जा सके। यहां इस बात की भी व्यवस्था की गई है ताकि इन हथियारों को लॉन्च करने के लिए तैयार किया जा सके। अमेरिकी वैज्ञानिक ने बताया कि इन शॉर्ट रेंज हथियारों को आपात काल में लॉन्च करने के लिए तैनात किया गया है, लिहाजा इसकी सुरक्षा हमेशा ही दांव पर है और किसी भी हादसे से इनकार नहीं किया जा सकता है।
इससे पहले डोनाल्ड ट्रंप के कार्यालय के एक अधिकारी ने कहा था कि अमेरिका ऐसे परमाणु हथियारों के निर्माण को लेकर चिंतित है जिसे युद्ध के मैदान में इस्तेमाल किया जा सकता है, साथ ही कहा था कि इन हथियारों के आतंकियों के हाथ में जाने का खतरा रहता है। क्रिस्टेंसन और रॉबर्ड नोरिस की रिपोर्ट में भी कहा गया है कि पाकिस्तान काफी तेजी से अपने परमाणु हथियारों को बढ़ा रहा है, वह इस तरह के 130-140 हथियार तैयार कर चुका है, साथ ही इसके लॉन्च सिस्टम को भी तेजी से बढ़ा रहा है।
रिपोर्ट में कहा गया है कि इस्लामाबाद संख्या और गुणवत्ता दोनों ही मामलों में परमाणु हथियारों को बढ़ा रहा है और इन्हें अलग-अलग ठिकानों पर तैनात कर रहा है, हालांकि इन ठिकानों की सटीक पहचान नहीं की जा सकती है। रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर उदाहरण के तौर पर देखें तो इस बात के पुख्ता संकेत नहीं हैं कि इन हथियारों को पाकिस्तान ने कहां तैनात किया है। लिहाजा हमने कॉमर्शियल सैटेलाइट की तस्वीरों को देखा, एक्सपर्ट ने इसका परीक्षण किया, साथ ही स्थानीय रिपोर्ट और खबरों के विश्लेषण के बाद हम यह कह सकते हैं कि ये हथियार किन मुमकिन ठिकानों पर तैयार हैं।
उल्लेखनीय है कि हाल ही में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकन अब्बासी ने कहा था कि उनके देश में परमाणु हथियार पूरी तरह से सुरक्षित हैं, साथ ही उन्होंने यह बताया था कि ये परमाणु हथियार भारतीय सेना के कोल्ड स्टार्ट सिद्धांत से निपटने के लिए हर वक्त तैयार हैं और इन्हें अलग-अलग जगह पर तैनात किया गया है। अब्बासी ने यह भी कहा था कि पाकिस्तान के परमाणु हथियार पूरी तरह से सुरक्षित हैं और यह पुख्ता कमांड और कंट्रोल सिस्टम के तहत सुरक्षित हैं। इनकी सुरक्षा को लेकर किसी भी तरह का कोई खतरा नहीं है, ये आतंकियों के हाथ नहीं लग सकते हैं।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :