नासा ने स्पेस लेजर सैटेलाइट किया लांच, लगाएगा हिम क्षय का पता

लास एंजिल्स| पुनः संशोधित रविवार, 16 सितम्बर 2018 (08:50 IST)
लास एंजिल्स। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने विश्व में हिम क्षय का पता लगाने और जलवायु के गर्म होने के कारण बढ़ते समुद्र स्तर के पूर्वानुमानों में सुधार के लिए शनिवार को एक अत्याधुनिक स्पेस लेजर सैटेलाइट को लांच किया।
आइससैट-2 नाम का एक अरब डॉलर की लागत वाला आधा टन वजनी उपग्रह स्थानीय समयानुसार सुबह 6 बजकर दो मिनट पर रवाना हुआ। इसे कैलिफोर्निया के वैंडेनबर्ग वायुसेना स्टेशन से डेल्टा-2 रॉकेट के जरिए प्रक्षेपित किया गया।
लगभग दस साल में यह पहली बार है जब नासा ने समूची धरती पर हिम सतह की ऊंचाई मापने के लिए कक्षा में उपग्रह भेजा है। इससे पहला मिशन आइससैट वर्ष 2003 में प्रक्षेपित किया गया था और 2009 में यह खत्म हो गया था।

पहले आइससैट मिशन ने खुलासा किया था कि समुद्री हिम सतह पतली हो रही है और ग्रीनलैंड व अंटार्कटिका में हिम परत खत्म हो रही है। नौ साल के दौरान इस बीच ऑपरेशन आइसब्रिज नाम से एक विमान मिशन ने भी आर्कटिक और अंटार्कटिक के ऊपर उड़ान भरी व बर्फ के बदलते आकार की तस्वीरें लीं। (Photo courtesy: Twitter)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :