क्या है ब्लैक फ्रायडे का इतिहास?

आजकल सबको पता है कि ब्लैक फ्रायडे का क्या अर्थ होता है। खासकर उन लोगों को जिन्हें किफायती खरीदारी में बेहद दिलस्पी है। जिन्हें इसके बारे में जानकारी नहीं हम उन्हें बता दें कि ब्लैक फ्रायडे, थैंक्स गिविंग डे के बाद अमेरिका में मनाया जाता है। थैंक्स गिविंग डे नवंबर के चौथे दिन मनाया जाता है और उसके अगले दिन ब्लैक फ्रायडे मनाया जाता है। देशव्यापी अवकाश के चलते इस दिन खूब खरीदारी की जाती है। पर क्या हमें पता है यह शब्द कैसे प्रचलन में आया और इसके पीछे का क्या इतिहास है?
ब्लैक फ्रायडे का दिन होने से पहले ही अमेरिकी नागरिक थैंक्स गिविंग डे के अगले दिन क्रिसमस की खरीदारी में व्यस्त हो जाते थे। इस दिन को थैंक्स गिविंग परेड से जोड़ा गया जिसमें डिपार्टमेंटल स्टोर्स अपने सामान का प्रचार करते थे। इस तरह खरीदारी से पहले सामानों का अच्छा खासा प्रचार हो जाता था जिससे बिक्री में कई गुना का इजाफा देखने को मिलता था।

यह प्रक्रिया चलती रही और बीसवीं शताब्दी में इस दिन की लोकप्रियता काफी बढ़ गई और इस दिन को ब्लैक फ्रायडे का नाम मिला। पहली बार यह शब्द 1950 में स्थानीय पुलिस ने उपयोग किया और साल 1980 तक यह शब्द काफी लोकप्रिय हो गया था। हालांकि दुकानदारों ने नकारात्मक भावनाओं को नजरअंदाज करने के लिए इसे बिग फ्रायडे में बदलने की मांग रखी, लेकिन ऐसा हो न सका।
अब सिर्फ अमेरिका ही नहीं ब्लैक फ्रायडे एक अंतरराष्ट्रीय त्योहार हो गया है, जिसमें अनेक देश की कंपनियां भाग लेती हैं और ग्राहक अपनी मनपंसद चीजें खरीदते हैं।

ब्लैक फ्रायडे पर विस्तृत जानकारी के लिए ब्लैक फ्रायडे ग्लोबल साइट पर क्लिक करें।


और भी पढ़ें :