एच-1बी वीजाधारकों के जीवनसाथी को काम करने से रोक सकता है अमेरिका

Last Updated: सोमवार, 18 दिसंबर 2017 (12:25 IST)
वॉशिंगटन। ट्रंप प्रशासन एच1बी वीजाधारकों के जीवनसाथी (पति या पत्नी) को अमेरिका में काम करने से रोक सकता है। ट्रंप प्रशासन ओबामा के कार्यकाल में बने नियम को रद्द करने पर विचार कर रहा है। इस कदम से अमेरिका में काम करने वाले भारतीय और उनके परिवार प्रभावित हो सकते हैं।

साल 2015 से ग्रीन कार्ड का इंतजार कर रहे एच1बी वीजाधारकों के जीवनसाथियों को एच-4 डिपेंटेंड वीजा पर कार्य करने की अनुमति है। पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकाल में इस नियम को पेश किया गया था। 2016 में 41,000 से अधिक एच-4 वीजाधारकों को काम करने की अनुमति दी गई थी, इस साल जून तक 36,000 से ज्यादा एच-4 वीजाधारकों को काम करने की अनुमति प्रदान की गई है।

अमेरिका के होमलैंड सिक्युरिटी विभाग (डीएचएस) ने कहा कि डीएचएस अपने नियमों को समाप्त करने का प्रस्ताव कर रहा है, जो कि एच-1बी वीजाधारकों की पति या पत्नी को काम करने का पात्र बनाता है। नोटिस के मुताबिक, नियमों में बदलाव राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के 'बाय अमेरिकन और हायर अमेरिकन' की नीति ध्यान में रखते हुए किया जा रहा है। ट्रंप ने इस साल की शुरुआत में यह मंत्र दिया था।

उल्लेखनीय है कि ट्रंप प्रशासन की एच-1बी कार्यक्रम में बदलाव की तैयारी है, जिसका व्यापक तौर पर भारतीयों को प्रभाव पड़ेगा। अमेरिका में एच-1बी वीजा पाने वालों में 70 प्रतिशत भारतीय हैं। अमेरिकी कंपनियों में काम करने वाले उच्च कुशल विदेशियों के लिए एच-1बी वीजा लोकप्रिय तरीका है। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :