ट्रंप ने फेसबुक को ट्रंपविरोधी कहा, बचाव में उतरे जुकरबर्ग

Last Updated: गुरुवार, 28 सितम्बर 2017 (10:36 IST)
वॉशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति ने को 'ट्रंपविरोधी' कहा है। दरअसल, कुछ ही दिन पहले यह सोशल मीडिया कंपनी अमेरिका में 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में रूसी हस्तक्षेप की जांच कर रही कांग्रेस की टीम को सामग्री मुहैया कराने को सहमत हुई थी।
ट्रंप ने ट्वीट किया कि फेसबुक हमेशा से ट्रंपविरोधी रहा है। फेक न्यूज, न्यूयॉर्क टाइम्स और वॉशिंगटन पोस्ट भी ट्रंपविरोधी थे। मिलीभगत रही है? गौरतलब है कुछ दिनों पहले फेसबुक ने कहा था कि वह एक रूसी एजेंसी द्वारा खरीदे गए 3,000 विज्ञापनों की सामग्री को जांचकर्ताओं को उपलब्ध कराएगा।

बचाव में उतरे जुकरबर्ग : सोशल मीडिया फेसबुक के संस्थापक ने 2016 में हुए अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में कंपनी की किसी भी तरह की भूमिका का बचाव करते हुए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के 'ट्रंपविरोधी' होने संबंधी बयान को खारिज कर दिया है।

जुकरबर्ग ने ट्रंप के आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि रूसी एजेंट ने फेसबुक पर विज्ञापन खरीदा और 2016 में अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव से पहले राजनीतिक तनाव पैदा करने के लिए फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाए। जुकरबर्ग ने फेसबुक पर अपनी एक पोस्ट में कहा कि अमेरिका में 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में इंटरनेट जनता से संपर्क साधने का प्रमुख साधन था। इसके अलावा यह उम्मीदवारों की योग्यता के बारे में भी जानने का सबसे अच्छा साधन था।
फेसबुक संस्थापक ने फेसबुक पर गलत जानकारी के कारण चुनाव परिणाम बदले जाने की खबरों को खारिज करते हुए कहा कि ऐसी सोच पागलपन को दर्शाता है तथा फेसबुक ने लगभग 20 लाख लोगों को वोट देने के लिए प्रेरित किया। इससे पहले राष्ट्रपति ट्रंप ने फेसबुक को ट्रंपविरोधी बताते हुए कहा था कि फेसबुक हमेशा से एंटी-ट्रंप था। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :