हजारों साल पुरानी खोपड़ी से चेहरा बनाने के लिए थ्रीडी तकनीक का इस्तेमाल

लंदन| पुनः संशोधित सोमवार, 17 जुलाई 2017 (15:46 IST)
लंदन। वैज्ञानिकों ने का इस्तेमाल करके 4,000 साल पुरानी एक क्षतिग्रस्त
खोपड़ी के चेहरे का पुनर्निर्माण किया है। यह खोपड़ी ताम्रकाल के एक किसान की है।
में 1930 के दशक में पाया गया यह लगभग 30 साल तक बक्सटन संग्रहालय के
संग्रह में रखा गया था। यह पत्थर के एक बक्से में क्षतिग्रस्त हाल में मिला था।
ऐसा माना जाता है कि पत्थर के जिस बक्से में उसे दफनाया गया था, वह गिर गया और
कंकाल की खोपड़ी के अगले हिस्से को नुकसान पहुंचा। किसान कैसा दिखता था, यह पता
लगाने के लिए चेहरे के दूसरे हिस्से का पता लगाना जरूरी था। इसके लिए शीशे की मदद
से उसका प्रतिबिम्ब बनाया गया।

ब्रिटेन की जॉन मूर्स यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने व्यक्ति के चेहरे का पुनर्निर्माण करने के लिए थ्रीडी तकनीक का इस्तेमाल किया। इस तकनीक का इस्तेमाल इससे पहले
मिट्टी के साथ किया गया था। प्रदर्शन के लिए रखे गए सामान की देखभाल करने वाले जो
पेरी ने कहा कि ताम्रकालीन अवशेषों पर चेहरा लगाना आसान था। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :