जीवित है रावण की बहन शूर्पणखा?

कोलंबो। शूर्पणखा के बारे में कहा जाता है कि रावण की मृत्यु के पश्चात वह वनवास चली गई थी और उसने तपस्या कर मुक्ति प्राप्त की थी लेकिन इसके बाद उसका कहीं पर कोई उल्लेख नहीं है। लेकिन श्रीलंका में एक महिला ने खुद के शूर्पणखा के अवतार होने का दावा किया है और गंगा सुदर्शनी नामक इस महिला का दावा है कि उसके पास दिव्य शक्ति है जिससे उसे भविष्य में होने वाली घटनाओं का पूर्वाभास हो जाता है।
गंगा सुदर्शनी का जन्म श्रीलंका की राजधानी कोलंबो से करीब 200 किलोमीटर दूर स्थित एक गांव महियांग्ना में हुआ था। कहा जाता है कि गंगा सुदर्शनी की नाक पर चोट का निशान, कटे हुए कान के निशान हैं, ठीक वैसे ही जैसा कि रामायण में इस घटना का उल्लेख किया जाता है। 
 
इस महिला के घर पर लोगों का प्रतिदिन दरबार लगता है और लोगों का इलाज भी किया जाता है। लोगों का कहना है कि गंगा के पास आज भी वही प्राचीन दिव्य शक्तियां हैं। वह लोगों की बीमारियां भी हाथ लगाते ही इलाज कर देती है और जब चाहे तब वह लोगों के सामने ही बारिश करा देती है और बारिश रुकवा भी देती है। 
 
गंगा खुद को रावण की बहन शूर्पणखा का ही अवतार बताती है और इसके पास एक से एक बड़ी शक्तिशाली हस्तियां आशीर्वाद लेने आती हैं। श्रीलंका की गंगा सुदर्शनी को लोग रावण की बहन शूर्पणखा का दर्जा देते हैं। गंगा न केवल शूर्पणखा के वंश की है बल्कि सरकार द्वारा उन्हें बाकायदा पेंशन और तनख्वाह तक दी जाती है।
 
उल्लेखनीय है कि 2004 में श्रीलंका में आई सुनामी के पहले गंगा ने इसकी भविष्यवाणी भी कर दी थी। लोग बताते हैं कि गंगा के शरीर पर इस तरह के कई चिन्ह मौजूद हैं, जो उनको रावण की बहन शूर्पणखा साबित करते हैं। उनके बारे में सच्चाई जो कुछ भी है लेकिन इतना सभी जानते हैं कि श्रीलंका के प्रभावशाली लोग उनसे अपना भविष्य जानने के लिए आते हैं। फोटो सााभार यूट्यूब

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :