क्या भूटान के राजकुमार का हुआ है पुनर्जन्म, जानें अनोखा रहस्य...

पुनर्जन्म एक सच है ऐसा करोड़ों लोगों के मन में विश्वास है। पुनर्जन्म से जुड़ी कई घटनाएं आपने पढ़ी, सुनी या देखी होगी। वर्तमान में एक नया मामला सामने आया है जो कि अनोखा है। भूटान और भारत के रिश्ते प्राचीनकाल से रहे हैं। के यहां नाती का जन्म हुआ है। नाती के रूप में जन्मे इस छोटे से बच्चे ट्रुएक जिग्मे जिंगतेन वांगचुक का प्राचीन भारत की नालंदा यूनिवर्सिटी से कोई जुड़ावा है। ऐसा माना जा रहा है कि यह बच्चा 824 साल पहले नालंदा में रह चुका है।
भूटान में पुनर्जन्म को लेकर मान्यताएं बहुत मजबूत हैं और यह भी माना जाता है कि पूर्वजन्म में जिग्मे का सारनाथ से गहरा नाता रहा। भूटान के इस छोटे से राजकुमार का दावा अगर सच निकला तो यह माना जाएगा कि नालंदा के एक प्रोफेसर का ही जन्म भूटान के राजकुमार के रूप में हुआ है। भूटान की महारानी कहती हैं कि पिछले तीन साल से उनके नाती ने जो कुछ बताया उसे जानकर वह हैरान रह गई।
 
पहले तो इसकी बात को घर के लोगों के दरकिनार किया लेकिन जब यह बच्चा अड़ा रहा तो घर के लोगों ने इसे गंभीरता से लिया और उसकी बातों को ध्यान से सुना। भिक्षु येरो ने बताया कि जिग्मे जब थोड़ा बहुत बोलने लगा तब वो नालंदा विश्वविद्यालय के बारे में ही बात करता था। जिग्मे ने 824 वर्ष पूर्व नालंदा में पढ़ने की बात बताई। उसकी हर बात 824 वर्ष पूर्व के शिक्षाविद् वेरोचना से मिलती थी। जिग्मे अक्सर अपनी नानी से सारनाथ आने की इच्छा जताता था। उसकी बातों को सुनकर महारानी ने बुद्ध से जुड़े स्थलों के दर्शन का निर्णय लिया और फिर चमत्कार हुआ...अगले पन्ने पर...
फोटो सौजन्य : यूट्यूब 
 

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :