लम्बे वीकेंड को यादगार बनाने का प्लान

इस बार वीकेंड लम्बा है। 13 अगस्त से 15 तक तो आपकी छुट्टियां हैं। तीन दिन की छुट्टी लो तो नौ दिन सैर सपाटा किया जा सकता है। इसका पूरा मजा ले सकते हैं कोई बेहतरीन बनाकर। इस वीकेंड में कहीं निकल पड़े तो क्या कहने परंतु आपका यह वीकेंड तभी सही तरीके से मनेगा जब आपकी प्लानिंग सही हो। अगर कहीं घूमने जाने का मन बना लिया है तो कुछ खास बातें आपको जानना जरूरी हैं। 
 
प्लान शब्द का ही मतलब है एक के बाद एक सही कदम, परंतु अगर आपने अब प्लान करना शुरू किया है तो पहली गलती तो हो ही चुकी है। ऐसे में अब बहुत जरूरी है कि बाकी सभी कदम समझदारी से भरे और सही ऑर्डर में हों। 
 
जगह का चुनाव
 
आपका बाहर जाने का मन है तो पहला काम जगह पक्की करना है। घर में जितने भी सदस्य हैं उनके साथ एक साथ बैठे। उनके दिमाग में कौन सी जगह है जानें। उनसे कारण भी पूछें। इससे आपको भी मन बनाने में मदद होगी। चूंकि अब दूर नहीं जा सकते हैं क्योंकि रेल में रिजर्वेशन मिलना मुश्किल है। प्लेन के टिकट दोगुने से तिगुने हो गए हैं। यदि दूर जाने का इंतजाम हो जाता है तो ठीक वरना आसपास की जगह चुनी जाए। दिया तले अंधेरा वाली कहावत तो सुनी ही होगी, ऐसा हमारे साथ अक्सर होता है। दूर-दराज की जगहों से हम वाकिफ रहते हैं, लेकिन आसपास के खूबसूरत स्थलों की अवहेलना कर देते हैं। दिमाग पर जोर डालेंगे तो सौ से दो सौ किलोमीटर के दायरे में कई उम्दा स्थल मिल जाएंगे। इंटरनेट इस मामले में आपके लिए मददगार साबित होगा।  
 
सबकी लें राय
 
मौसम का ख्याल करते हुए जगह निश्चित करें। यदि बच्चे और बुजुर्ग भी साथ हों तो गौर करना लाजमी है। बुजुर्ग चाहते हों कि किसी खास धार्मिक उत्सव में शरीक हों और तीर्थ के दर्शन कर लिए जाएं तो वहां भी जाया जा सकता है। धार्मिक स्थलों पर घूमना सस्ता रहता है। पारिवारिक माहौल मिलता है। ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं होती है। युवा लोग हैं तो यात्रा को रोमांच से सराबोर किया जा सकता है। पहाड़ और नदी के बीच दुर्गम स्थानों पर जाया जा सकता है। यहां जाने के लिए खूब चलने और कठिनाइयों का सामना करने की मानसिक स्थिति होनी चाहिए। परिवार साथ में हो तो कोई हिल स्टेशन चुना जाना चाहिए। सबकी राय और सबकी स्थिति देख निर्णय लीजिए। 
 
पहला पड़ाव आपने पार कर लिया है। आपकी जगह निश्चित हो गई है। अब वहां पहुंचने का बंदोबस्त दूसरा कदम है।  आपका प्लान देरी से बना है इसलिए आपके साथ माइनस प्वाइंट यह है कि आपकी ट्रेन, बस या फ्लाइट की बुकिंग नहीं है। 
 
अगले पेज पर कैसे मिलेगा तुरंत टिकिट... 
 

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine



और भी पढ़ें :