फूड पॉइजनिंग के शिकार हो जाएं, तो अपनाएं आसान घरेलू उपाय



ऐसे कई अवसर होते हैं, जब आपको बाहर भोजन करना पड़ता हैं। कई बार शौक से तो कई बार घर पर खाना बनाने का मन ना हो तब, वहीं कभी ऑफिस के बाद खाना बनाने का समय नहीं होता। ऐसे भी लोग हैं जिन्हें मजबूरी में बाहर खाना पड़ता है, कभी अपने घर से दूर होने के चलते तो कभी नौकरी के चलते। यदि बाहर का खाना स्वच्‍छता से नहीं बनाया गया हो, बासी परोसा गया हो, पकाने से पहले सब्जियां ठीक से न धोई गई हों, खाना बनाते वक्त अच्छी क्वालिटी के सामान का इस्तेमाल नहीं किया गया हो, तब ऐसा खाना खाने पर आपको फूड पॉइजनिंग होने की आशंका रहती है।

आइए, जानते हैं फूड पॉइजनिंग होने पर किन घरेलू उपायों को अपनाना चाहिए। इन्हें आजमाकर आप तबीयत में राहत महसूस करेंगे-
1. नींबू का सेवन करें- नींबू में एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण मौजूद होते हैं। इसलिए इसे पीने से फूड पॉइजनिंग वाले बैक्टीरिया मर जाते हैं। आप खाली पेट नींबू-पानी बनाकर पी सकते हैं या चाहें तो गर्म पानी में नींबू निचोड़ें और पी जाएं।

2. सेब के सिरके का सेवन करें- सेब के सिरके में मेटाबालिज्म रेट को बढ़ाने वाले तत्व होते हैं। खाली पेट इसका सेवन करने पर यह भी खराब बैक्टीरिया को मारने में मदद करते हैं।

3. तुलसी का सेवन करें- तुलसी में मौजूद रोगाणुरोधी गुण सूक्ष्म जीवों से लड़ते हैं। तुलसी का सेवन आप कई तरीकों से कर सकते हैं। एक कटोरी दही में तुलसी की पत्तियां, कालीमिर्च और थोड़ा सा नमक डालकर खा सकते हैं। पानी व चाय में भी तुलसी की पत्तियां डालकर पी सकते हैं।

4. दही खाएं- दही एक प्रकार का एंटीबायोटिक है, इसमें थोड़ा सा काला नमक डालकर इसे खा सकते हैं।

5. लहसन खाएं- लहसन में एंटी फंगल गुण होते हैं। आप सुबह खाली पेट लहसन की कच्ची कलियां पानी के
साथ खा सकते हैं। इससे भी राहत मिलेगी।


और भी पढ़ें :