हिन्दी कविता : पौधे लगाएं...



-सरफ़राज़ ख़ान

आओ!
पौधे लगाएं
अपनी धरा को
सुंदर बनाएं
को स्वच्छ बनाएं।

आओ
मिलकर पौधे लगाएं
घर-आंगन में
जूही, बेला, गुलाब, चम्पा
और चमेली लगाएं
अपने आस-पड़ोस में
पौधे लगाएं
नीम, बरगद और पीपल लगाएं
पलाश, अमलतास और गुलमोहर से
गांव-शहर को ख़ूब सजाएं।

आओ
हम सब मिलकर
पौधे लगाएं
अपनी धरा को सुंदर बनाएं...
(लेखक स्टार न्यूज एजेंसी से जुड़े हैं)


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :