हिन्दी कविता : पौधे लगाएं...



-सरफ़राज़ ख़ान

आओ!
पौधे लगाएं
अपनी धरा को
सुंदर बनाएं
को स्वच्छ बनाएं।

आओ
मिलकर पौधे लगाएं
घर-आंगन में
जूही, बेला, गुलाब, चम्पा
और चमेली लगाएं
अपने आस-पड़ोस में
पौधे लगाएं
नीम, बरगद और पीपल लगाएं
पलाश, अमलतास और गुलमोहर से
गांव-शहर को ख़ूब सजाएं।

आओ
हम सब मिलकर
पौधे लगाएं
अपनी धरा को सुंदर बनाएं...
(लेखक स्टार न्यूज एजेंसी से जुड़े हैं)



और भी पढ़ें :