Widgets Magazine

मीडिया एंड मिथ विषय पर राष्ट्रीय संविमर्श






मीडिया के विभिन्न स्वरूप और उनके काम के तरीके को लेकर चौक-चौपालों से लेकर संसद तक में सवाल और बहस का सिलसिला चलता रहता है। इनसे जुड़े मुद्दों को लेकर तमाम चर्चाओं के साथ ही अफवाहों का जोर भी बढ़ता है। मीडिया छात्रों, शिक्षकों और मीडियाकर्मियों से जुड़े विषयों को लेकर रचनात्मक हस्तक्षेप करनेवाली संस्था अपने दस साल पूरे होने के अवसर पर ऐसे कई प्रासंगिक मुद्दों पर केंद्रित एक राष्ट्रीय संविमर्श का आयोजन कर रहा है।



एशिया के प्रतिष्ठित मीडिया प्रशिक्षण केंद्र भारतीय जनसंचार संस्थान (आईआईएमसी), नई दिल्ली परिसर में 20 मई शनिवार को थिम पर आयोजित होनेवाले एकदिवसीय परिसंवाद के विभिन्न सत्रों में ऐसे विषयों पर चर्चा की जाएगी। आयोजन में देशभर से संबंधित प्रशिक्षुओं, रिसर्च स्कॉलर, एकेडमिशियन, समाजसेवी, मीडियाकर्मी, ब्यूरोक्रेट वगैरह सहभागी होंगे।


मीडिया स्कैन, गांधी स्मृति एवं दर्शन समिति, नई दिल्ली और आईआईएमसी के संयुक्त तत्वाधान में होने वाले इस सारस्वत आयोजन में छह सत्रों में वंचित समुदायों के सवाल, इतिहास पुनर्लेखन, जम्मू कश्मीर के हालात, सरकारी जनसंचार सेवा और विशेषज्ञता, राष्ट्रीय विचारों की पत्रकारिता और धर्मपाल स्मृति व्याख्यान पर चर्चा की जाएगी।
 
प्रमुख वक्ताओं में शिक्षा और भाषा आंदोलन के अतुल कोठारी, जम्मू कश्मीर मामलों के विशेषज्ञ अरुण कुमार, केजी सुरेश, महानिदेशक, आईआईएमसी, विकास भारती के संस्थापक पद्मश्री अशोक भगत, वरिष्ठ पत्रकार पद्मश्री जवाहरलाल कौल, दिल्ली प्राद्योगिकी विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. योगेश सिंह, दिव्य प्रेम सेवा मिशन के आशीष गौतम, लेखक राजीव रंजन प्रसाद, वरिष्ठ पुलिस अधिकारी एसआरपी कल्लूरी, धर्मपाल शोधपीठ, भोपाल की निदेशक डॉ. कुसुमलता केडिया, कैलाश सत्यार्थी फाउंडेशन के अनिल पांडेय, आर्थिक पत्रकार बदरीनाथ, हरियाणा सरकार के सूचना आयुक्त भूपेंद्र धर्मानी, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय,वर्धा के डॉ. अनिल राय अंकित, फिल्म जगत से जुड़ी अमेरिकी साध्वी डेजा ओम, विख्यात कथाकार अतुल कृष्ण भारद्वाज, सभ्यता अध्ययन केंद्र के निदेशक रविशंकर, भाषाविद् प्रमोद दूबे, कर्नल (रिटा.) जयबंस सिंह सहित कई गणमान्य शामिल होंगे।


उद्घाटन सत्र से पहले सामूहिक योग प्रशिक्षण और सामूहिक यज्ञ का भी आयोजन किया जाएगा. डॉ. सौरभ मालवीय द्वारा संपादित राष्ट्रीय पत्रकारिता विषयक आलेखों के संकलन का विमोचन भी किया जाएगा। पुस्तक में देशभर के चुने हुए तीस पत्रकारों के आलेख शामिल हैं। इस दौरान दिनभर मीडियाकर्मियों के लिए नेत्र जांच शिविर चलता रहेगा। आयोजन स्थल पर देश के दो प्रसिद्ध युवा फोटो जर्नलिस्ट्स के पुरस्कृत तस्वीरों की प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी।
Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine