राहुल गांधी बोले मायावती की भाषा

पाटन| पुनः संशोधित सोमवार, 13 नवंबर 2017 (13:30 IST)
पाटन। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को गुजरात में चुनाव प्रचार के दौरान के साथ एक संवाद कार्यक्रम में कहा कि (आरएसएस) के मुनवादी संगठन है, जो देश की जातिवादी व्यवस्था को ज्यों का त्यों बनाए रखना चाहता है।
गांधी ने अपनी तीन दिवसीय नवसर्जन गुजरात यात्रा के तीसरे और अंतिम दिन उत्तर गुजरात के पाटन में दलित समुदाय के साथ संवाद के दौरान एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि संघ के मनुवादी संगठन है जो देश की जातिवादी संरचना को बनाए रखना चाहता है। उन्होंने कहा कि वह स्वयं जाति व्यवस्था के विरोधी हैं।

उन्होंने कहा कि संघ भले ही मनुवादी है पर सामान्य जाति के लोगों के कई ऐसे संगठन भी हैं जिनकी सोच मनुवादी नहीं हैं। मैं जातिवादी व्यवस्था के खिलाफ हूं। यह ऐसी व्यवस्था है जो किसी इंसान को इंसान नहीं मानती। इस व्यवस्था को रद्द करना है। हम दलित आदिवासी समेत सभी को लेकर आगे बढ़ना चाहते हैं।
गांधी ने कहा कि वह दलित समुदाय से संबंधित गुजरात के मुद्दों को विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी के घोषणा पत्र में शामिल करेंगे। उन्होंने संवाद के दौरान केंद्र की मोदी सरकार पर अपने प्रहार जारी रखे। उन्होने नोटबंदी, जीएसटी और रोजगार की कमी को लेकर अपने आरोप दोहराए। (वार्ता)


और भी पढ़ें :