मुश्किल में मुनमुन सेन, वोटरों को नहीं पता असली नाम

कोलकाता| भाषा| पुनः संशोधित शुक्रवार, 2 मई 2014 (14:18 IST)
FILE
कोलकाता। मशहूर लेखक शेक्सपीयर का यह जुमला बहुत प्रसिद्ध है कि ‘नाम में क्या रखा है’। लेकिन में लोकसभा चुनाव लड़ रहे बांग्ला फिल्मों के दो कलाकारों के नाम ही उनके लिए परेशानी की वजह बन गए हैं। दरअसल, मतदाता उनके वास्तविक नामों और पर्दे के नामों की वजह से उलझन में पड़ रहे हैं।

जानी-मानी अभिनेत्री सुचित्रा सेन की अदाकारा बेटी का वास्तविक नाम श्रीमती देव वर्मा है, वहीं मशहूर बांग्ला फिल्म अभिनेता देव का वास्तविक नाम दीपक अधिकारी है। में पार्टी के चुनाव चिह्नों के साथ दोनों ही उम्मीदवारों के वास्तविक नाम होंगे।
दोनों तृणमूल कांग्रेस से मैदान में हैं। स्थानीय पार्टी नेताओं के मुताबिक उन्हें आशंका है कि ईवीएम में प्रत्याशियों के वास्तविक नाम होने से कुछ मतदाता वोट डालते समय संशय में पड़ सकते हैं।

60 वर्षीय मुनमुन सेन ने बांकुरा में मतदाताओं से कहा कि फिल्म, टीवी धारावाहिकों और जात्राओं में मुझे मुनमुन सेन के नाम से जाना जाता है, लेकिन मेरी मां ने मेरा नाम श्रीमती और मुनमुन दोनों रखा था। मेरे मतदाता पहचान पत्र पर श्रीमती देव वर्मा नाम है।
मुनमुन सेन की अभिनेत्री बेटियां राइमा और रिया सेन भी अपनी मां के लिए प्रचार करते हुए उनके वास्तविक नाम पर जोर दे रही हैं।

एक सवाल पर मुनमुन सेन ने स्वीकार किया कि यह एक मुद्दा है लेकिन कहा कि उनके प्रचार की शुरुआत के समय से पार्टी कार्यकर्ता मतदाताओं को उनके वास्तविक नाम के बारे में जागरूक कर रहे हैं। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :