बिरादरी का बैरियर टूटा, कलराज को जीत का यकीन

देवरिया| भाषा| पुनः संशोधित शुक्रवार, 9 मई 2014 (14:43 IST)
देवरिया। पहली बार लड़ रहे भाजपा के दिग्गज नेता का दावा है कि इस बार देवरिया में ‘बिरादरी का बैरियर’ टूट गया है और सवर्णों के अलावा दलित और पिछड़े वर्ग के वोट भी उन्हें मिलेंगे तथा 10 साल बाद पार्टी उत्तरप्रदेश की इस लोकसभा सीट पर फिर से कब्जा कर सकेगी।

देवरिया में भाजपा ने आखिरी बार 1999 में लोकसभा चुनाव जीता था, जब प्रकाश मणि त्रिपाठी यहां से चुने गए थे। इस बार पार्टी ने पूर्व राज्यसभा सदस्य और लखनऊ से विधायक रहे कलराज को यहां से टिकट देकर सभी को चौंका दिया।

इस फैसले के खिलाफ भाजपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष सूर्यप्रताप शाही और पूर्व सांसद त्रिपाठी के समर्थकों ने विरोध प्रदर्शन भी किया था हालांकि 73 बरस के कलराज को जीत का सौ फीसदी यकीन है।
उन्होंने कहा कि मैं देवरिया में जीत को लेकर 101 प्रतिशत कांफिडेंट हूं। यहां सवाल जीत-हार का नहीं, बल्कि जीत के अंतर का है। जीत एक लाख, डेढ लाख या उससे अधिक मतों के अंतर से हो सकती है। उनका मुकाबला बसपा के नियाज खान, कांग्रेस के सभाकुंवर कुशवाहा और समाजवादी पार्टी के बालेश्वर यादव से है।

कलराज ने दावा किया कि मेरे लिए यहां बिरादरी का बैरियर टूट गया है। सबसे अच्छी बात तो यह है कि सवर्ण यानी ब्राह्मण, राजपूत और वैश्य तो मुझे वोट दे ही रहे हैं लेकिन चौहान, कुशवाहा, प्रजापति और यादवों समेत दलित और पिछड़े वर्ग के वोट भी मिल रहे हैं।
कलराज ने कहा कि यादव इस बार अपना वोट खराब नहीं करना चाहते और भाजपा को देने का मन बना चुके हैं। 1999 के बाद भाजपा यहां जीत नहीं सकी लेकिन इस बार अच्छे मतों से यह सीट हमें मिलेगी।

उनकी उम्मीदवारी को लेकर स्थानीय कार्यकर्ताओं में किसी तरह के असंतोष को नकारते हुए कलराज ने कहा कि भाजपा एक इकाई की तरह उनकी जीत के लिए काम कर रही है।
उन्होंने कहा कि ये सब बीती बातें हैं। अब सभी मिलकर साथ काम कर रहे हैं। जो लोग चले गए थे, वे भी लौट आए हैं। उनके अनुसार ‘मोदी लहर’ का पार्टी को फायदा मिलेगा और प्रदेश की 80 में से 50 से अधिक सीटें भाजपा के खाते में जाएंगी।

भाजपा नेता ने कहा कि मोदी लहर का फायदा निश्चित रूप से मिलेगा और इन चुनावों में सपा और बसपा का सबसे खराब प्रदर्शन होगा।
अमेठी के बारे में उन्होंने कहा कि वहां चौंकाने वाले नतीजे आ सकते हैं। राहुल और प्रियंका गांधी का कभी कोई जादू था ही नहीं तो चलेगा क्या? और इस बार अमेठी में नतीजा चौंकाने वाला हो सकता है। यह पूछने पर कि लोग भाजपा को वोट देंगे या मोदी को? उन्होंने कहा कि दोनों एक ही बात है।

उन्होंने कहा कि भाजपा ने मोदी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया है तो स्वाभाविक है कि उनके नाम पर चुनाव लड़ा जा रहा है लिहाजा भाजपा को वोट दें या मोदी को, बात एक ही है।
मोदी और अटल बिहारी वाजपेयी की तुलना के सवाल पर कलराज ने कहा कि वाजपेयीजी का व्यक्तित्व भिन्न था लेकिन मोदी को लेकर आम जनता में स्वीकार्यता बनी है।

उन्होंने कहा कि मोदी के बारे में एक राय बन गई है कि वे पिछड़ी जाति के नेता हैं और वहां से उठकर इस मुकाम तक पहुंचे हैं तथा भारत के प्रधानमंत्री बनने जा रहे हैं और योग्य प्रधानमंत्री बनेंगे। लोगों को यह बात आकर्षित करती है और यही वजह है कि उनकी लहर चल रही है।
स्थानीय मसलों के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि वे बुनियादी सुविधाएं और गन्ना किसानों की दशा बेहतर करने के लिए काम करेंगे।

उन्होंने कहा कि यहां गन्ना मिलें बंद हैं और गन्ना किसानों का बुरा हाल है। इसके अलावा बाढ़ का कहर और बुनियादी सुविधाओं का अभाव ऐसे मसले हैं, जो प्राथमिकता होंगे। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :