प्रचार में पतंगों का सहारा ले रही है पार्टियां

कोलकाता| भाषा| पुनः संशोधित मंगलवार, 6 मई 2014 (11:17 IST)
FILE
कोलकाता। अगर आप आसमान में हरे रंग की को लाल रंग की पतंग के साथ अठखेलियां करते देख रहे हैं तो आप उसमें छिपा हुआ संदेश भी पढ़ने का प्रयास करें।

अब प्रचार का नया तरीका आजमाते हुए और मतदाताओं तक पहुंचने के लिए अपनी पार्टी के रंगों और चुनाव चिह्नों से सजी पतंग बनाने का ऑर्डर दे रहे हैं।

उत्तरी कोलकाता के संतोष मित्रा स्क्वायर पर ‘बंगाल काइट्स’ नामक मशहूर दुकान के मालिक बाबुल सेन अपने यहां तृणमूल कांग्रेस, भाजपा, कांग्रेस और माकपा के समर्थकों के लिए राजनीतिक पतंगें बना कर रखे हुए हैं।
सेन ने बताया कि तृणमूल कांग्रेस ने 2000 पतंग बनाने का ऑर्डर दिया है। हरे रंग के अलावा पतंगों में पार्टी के चुनाव चिह्न फूल और घास को दर्शाया गया तथा ममता बनर्जी की तस्वीर भी छापी गई है। उन्होंने बताया कि यह प्रचार का सस्ता साधन है। पार्टी कार्यकर्ता समर्थकों को यह पतंग बांट रहे हैं।

12 मई को राजधानी में होने वाले मतदान से पहले, विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के समर्थकों की भीड़ सेन दुकान के बाहर देखी जा सकती है। उनकी पतंगों की बिक्री में इजाफा हुआ है।
सेन ने बताया कि इन दिनों दुकान पर आने वाला हर व्यक्ति राजनीतिक पार्टियों का पतंग देखना चाहता है चाहे वह इसे खरीदे या नहीं खरीदे। इसलिए हमने दुकान पर सभी राजनीतिक पार्टियों की पतंग लगाई है ताकि किसी को यह नहीं लगे कि मुझे छोड़ दिया गया। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :