दद्दू का दरबार : जनता का न्याय



प्रश्न : दद्दूजी, जमीन घोटाले में सीबीआई द्वारा केस दर्ज करने के बाद मुश्किलों में फंसे
बिहार के उपमुख्‍यमंत्री और के बेटे ने बुधवार को कहा कि
भाजपा महागठबंधन से डरी हुई है इसीलिए हमारे खिलाफ साजिश कर रही है। वहीं लालूजी
ने अपने बयान में कहा है कि वे फैसले के लिए में जाएंगे। इस बारे में आपका मत क्या है? क्या इस तरह के फैसले जनता द्वारा किए जाने चाहिए?

उत्तर : यदि लालू यादव को जनता के न्याय पर इतना ही भरोसा है तो उनकी इस इच्छा
का सम्मान किया जाना चाहिए। उनके परिवार के लोग जिन पर आरोप लगे हैं उन्हें बिना
झेड प्लस सुरक्षा के किसी चौराहे पर जनता के बीच आमंत्रित किया जाए। एक और सड़े
अंडे, टमाटर व जूते-चप्पल का तथा दूसरी ओर फूलों का ढेर हो। जनता के न्याय से पता चल जाएगा कि उन्हें सम्मान के फूल मिलते हैं या अपमान के कांटे?



Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :