अब तक यह सपने की तरह रहा है : हिमा दास

Last Updated: शनिवार, 14 जुलाई 2018 (00:23 IST)
नई दिल्ली। 'मैं एक सपना जी रही हूं’, यह शब्द हैं के जिनके जरिए वह असम के एक छोटे से
गांव में फुटबालर से शुरू होकर एथलेटिक्स में पहली भारतीय बनने के अपने सफर को
बयां करना चाहती है।

नौगांव जिले के कांदुलिमारी गांव के किसान परिवार में जन्मी 18 वर्षीय हिमा कल फिनलैंड में आईएएएफ विश्व
अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतकर देशवासियों की आंख का तारा बन गई। वह महिला और पुरुष दोनों वर्गों में ट्रैक स्पर्धाओं में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय भी हैं।

वह अब नीरज चोपड़ा के क्लब में शामिल हो गई हैं जिन्होंने 2016 में पोलैंड में आईएएएफ विश्व अंडर -20
चैंपियनशिप में भाला फेंक (फील्ड स्पर्धा) में स्वर्ण पदक जीता था।

उनके पिता रंजीत दास के पास दो बीघा जमीन है और उनकी मां जुनाली घरेलू महिला हैं। जमीन का यह छोटा
सा टुकडा ही छह सदस्यों के परिवार की आजीविका का साधन है।

हिमा ने फिनलैंड के टेम्पेरे से कहा, मैं अपने परिवार की स्थिति को जानती हूं और हम कैसे संघर्ष करते हैं। लेकिन ईश्वर के पास सभी के लिए कुछ होता है। मैं सकारात्मक सोच रखती हूं और मैं जिंदगी में आगे के बारे में सोचती हूं। मैं अपने माता पिता और देश के लिए कुछ करना चाहती हूं।’
उन्होंने कहा, लेकिन अब तक यह सपने की तरह रहा है। मैं अब विश्व जूनियर चैंपियन हूं।’ हिमा चार भाई बहनों में सबसे बड़ी है। उसकी दो छोटी बहनें और एक भाई है। एक छोटी बहन 10वीं कक्षा में पढ़ती है जबकि जुड़वां भाई और बहन तीसरी कक्षा में हैं। हिमा खुद अपने गांव से एक किलोमीटर दूर स्थित ढींग के एक कालेज में 12वीं की छात्रा है।

हिमा के पिता रंजीत ने असम में अपने गांव से कहा, वह बहुत जिद्दी है। अगर वह कुछ ठान लेती है तो फिर
किसी की नहीं सुनती लेकिन वह पूरे धैर्य के साथ यह काम करेगी। वह दमदार लड़की है और इसलिए उसने
कुछ खास हासिल किया है। मुझे उम्मीद थी कि वह देश के लिए कुछ विशेष करेगी।’

हिमा के चचेरे भाई जॉय दास ने कहा, शारीरिक तौर पर भी वह काफी मजबूत है। वह हमारी तरह फुटबाल
पर किक मारती है। मैंने उसे लड़कों के साथ फुटबाल नहीं खेलने के लिए कहा, लेकिन उसने हमारी एक नहीं सुनी।’ उसके माता पिता की जिंदगी संघर्षों से भरी रही है लेकिन अभी वे सभी जश्न में डूबे हुए हैं।

दास ने कहा, हम बहुत खुश हैं कि उसने खेलों को अपनाया और वह अच्छा कर रही है। हमारा सपना है कि
हिमा एशियाई खेलों और ओलंपिक खेलों में पदक जीते। आज सुबह से ही हमारा पूरा गांव उसके स्वर्ण पदक का
जश्न मना रहा है। हमारे कई रिश्तेदार घर आए और हमने मिठाईयां बांटी।’

हिमा ने अपने प्रदर्शन के बारे में कहा, मैं पदक के बारे में सोचकर ट्रैक पर नहीं उतरी थी। मैं केवल तेज
दौड़ने के बारे में सोच रही थी और मुझे लगता है कि इसी वजह से मैं पदक जीतने में सफल रही।’
उन्होंने कहा, मैंने अभी कोई लक्ष्य तय नहीं किया है, जैसे कि एशियाई या ओलंपिक खेलों में पदक जीतना। मैं अभी केवल इससे खुश हूं कि मैंने कुछ विशेष हासिल किया है और अपने देश का गौरव बढ़ाया है।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

पिता थे चपरासी, बेटा बना भारतीय फुटबॉल टीम का मेसी

पिता थे चपरासी, बेटा बना भारतीय फुटबॉल टीम का मेसी
यूपी के मुजफ्फरनगर जिले के एक फुटबॉल खिलाड़ी नीशू कुमार को भारतीय नेशनल टीम में शामिल ...

KL RAHUL यानी 'कमाल लाजवाब राहुल' ने अंग्रेज गोलदांजों के ...

KL RAHUL यानी 'कमाल लाजवाब राहुल' ने अंग्रेज गोलदांजों के छक्के छुड़ाए
इंग्लैंड की धरती पर कदम रखते ही केएल राहुल ने मंगलवार को पहले टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच में ...

छोटे से गांव से निकला टीम इंडिया का चाइनमैन, अंग्रेजों की ...

छोटे से गांव से निकला टीम इंडिया का चाइनमैन, अंग्रेजों की धरती पर बनाया रिकॉर्ड
तीन टी-20 मैचों की सीरीज के पहले मैच में बुधवार को भारत ने यदि इंग्लैंड को उसी के घर में ...

विंबलडन में छाया फीफा विश्व कप का खुमार

विंबलडन में छाया फीफा विश्व कप का खुमार
इंग्लैंड में चल रहे विंबलडन में मंगलवार को एक कोने का माहौल किसी फुटबॉल स्टेडियम से कम ...

नेमार : झोपड़पट्‍टी से निकलकर आलीशान बंगले तक

नेमार : झोपड़पट्‍टी से निकलकर आलीशान बंगले तक
फीफा विश्व कप के 21वें संस्करण में फुटबॉल बिरादरी की जुबां पर क्रिस्टियानो रोनाल्डो, ...

IND Vs ENG : भारत की निगाहें लगातार 10वीं सीरीज जीतने पर

IND Vs ENG : भारत की निगाहें लगातार 10वीं सीरीज जीतने पर
पिछले मैच में मध्यक्रम की कमजोरियों के उजागर होने के बाद भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ ...

गूगल पर हिमा दास की उपलब्धि नहीं उनकी जाति सर्च कर रहे लोग

गूगल पर हिमा दास की उपलब्धि नहीं उनकी जाति सर्च कर रहे लोग
असम के एक छोटे से गांव में पली बढ़ी हिमा दास ने फिनलैंड में हुई आईएएएफ वर्ल्ड अंडर-20 ...

गेंद से छेड़खानी के मामले में श्रीलंकाई कप्तान, कोच 4 वनडे ...

गेंद से छेड़खानी के मामले में श्रीलंकाई कप्तान, कोच 4 वनडे और 2 टेस्ट के लिए निलंबित
दुबई। श्रीलंका के कप्तान दिनेश चांदीमल, कोच चंदिका हाथुरुसिंघे और मैनेजर असांका गुरुसिंघा ...

कोहली के बाद सहायक कोच बांगड़ ने भी किया धोनी का बचाव

कोहली के बाद सहायक कोच बांगड़ ने भी किया धोनी का बचाव
लीड्स। भारत के सहायक कोच संजय बांगड़ ने आलोचकों के कोपभाजन बने महेंद्र सिंह धोनी का बचाव ...

FIFA WC 2018 : क्रोएशिया की राष्ट्रपति ने 52 लोगों को दी ...

FIFA WC 2018 : क्रोएशिया की राष्ट्रपति ने 52 लोगों को दी 'जादू की झप्पी'
मॉस्को। रूस में रविवार को फीफा विश्व कप फ्रांस को चैंपियन बनाने के साथ संपन्न हो गया। ...

देश की सबसे बड़ी इनकम टैक्स रेड, करीब 163 करोड़ रुपए नगद, ...

देश की सबसे बड़ी इनकम टैक्स रेड, करीब 163 करोड़ रुपए नगद, 100 किलो सोना जब्त
आयकर विभाग ने तमिलनाडु में राजमार्ग निर्माण के कार्य में लगी एक कंस्ट्रक्शन कंपनी के ...

शोषितों और दबे-कुचले लोगों के साथ है कांग्रेस, धर्म और जाति ...

शोषितों और दबे-कुचले लोगों के साथ है कांग्रेस, धर्म और जाति मायने नहीं रखती: राहुल गांधी
नई दिल्ली। 'मुस्लिम पार्टी' होने संबंधी अपने कथित बयान को लेकर खड़े हुए विवाद की ...

सातवीं कक्षा की बच्ची के साथ 22 लोगों ने किया रेप, 7 माह तक ...

सातवीं कक्षा की बच्ची के साथ 22 लोगों ने किया रेप, 7 माह तक करते रहे दरिंदगी
चेन्नई। तमिलनाडु में एक बहुत ही सनसनीखेज मामला सामने आया है, जहां चेन्नई में सातवीं कक्षा ...

कार बनेगी 'उड़नखटोला', 400 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ...

कार बनेगी 'उड़नखटोला', 400 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से भरेगी उड़ान...
एक बार चार्ज करने पर कोई कार यदि आपको 800 किलोमीटर तक ले जाए और वह हवा में उड़ाकर, यह ...

इंडोनेशिया की गोदी में फंसे दो क्रू मेंबर, भारतीय नौसेना ने ...

इंडोनेशिया की गोदी में फंसे दो क्रू मेंबर, भारतीय नौसेना ने बचाया
कोच्चि। भारतीय नौसेना ने इंडोनेशिया के तैरते गोदी के भीतर से दो क्रू सदस्यों को मंगलवार ...