अरबी के फलाहारी कबाब, टेस्ट ऐसा कि अंगुलियां चाटते रह जाओगे

arbi ke kabab

अरबी जिसे उत्तर भारत में 'घुइयां' के नाम से भी जाना जाता है, आलू और शकरकंद के जैसे आमतौर पर सभी परिवारों में व्रत के दिनों में खाई जाती है। अरबी से कई प्रकार के व्यंजन बनाए जाते हैं। अरबी का कबाब बहुत आसानी से बनने वाला है। अरबी में क्योंकि होता है तो यह थोड़ा चिपकती है इसलिए हमने इसमें कूट्टू का आटा मिलाया है जिससे कि इसे बांधने में आसानी रहती है। तो आप भी बनाकर देखिए यह स्वादिष्ट फलाहारी कबाब।
सामग्री

(16 कबाब के लिए)

• अरबी 500 ग्राम
• कूट्टू का आटा ¼ कप
• अदरक बारीक कटी 2 छोटे चम्मच
• हरी मिर्च बारीक कटी 2 छोटे चम्मच
• हरा धनिया बारीक कटा 2 बड़े चम्मच
• नमक 1½ छोटे चम्मच/ स्वादानुसार
• तेल सेंकने के लिए
बनाने की विधि :

1. अरबी को धोकर उबाल लें।
2. जब अरबी ठंडी हो जाएं तो उसे छील लें और फिर उसे मसल लें। आप चाहें तो अरबी को कद्दूकस भी कर सकते हैं।
3. अब एक कटोरे में मसली अरबी, कुट्टू का आटा, घिसी अदरक, कटी हरी मिर्च, कटा हरा धनिया और नमक लें। सभी सामग्रियों को अच्छे से मिलाएं।
4. अब इस मिश्रण को 16 बराबर हिस्सों में बाट लें और अरबी के मनचाहे आकार के कबाब बनाएं। मैं आमतौर पर अंडाकार कबाब बनाना पसंद करती हूं।
5. एक नॉन स्टिक तवे को गरम कीजिए। इसमें थोड़ा सा तेल डालिए और मध्यम से तेज आंच पर कबाब को दोनों तरफ से लाल होने तक सेंकिए।
6. स्वादिष्ट और पौष्टिक अरबी के कबाब को फलाहारी चटनी के साथ परोसिए।
कुछ नुस्खे और सुझाव

कुट्टू के आटे को अंग्रेजी में buckwheat कहते हैं। भारत में यह आसानी से राशन की दुकान में मिल जाता है। लेकिन अगर आप विदेश में रहते हैं तो मैं आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि कुट्टू का आटा या तो इंडियन स्टोर में मिलेगा या फिर ऑर्गेनिक स्टोर में। वैसे आप कुट्टू के आटे के स्थान पर सिंघाड़े के आटे का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। अगर आपको कबाब बांधने में परेशानी हो रही है तो आप कुट्टू के आटे की मात्रा बढ़ा भी सकते हैं। मैंने अरबी के कबाब को सेंककर बनाया है लेकिन आप अरबी के कबाब को तल भी सकते हैं।




और भी पढ़ें :