गुजरात : एक नजर में

भाषा|
क्षेत्रफल - 196, 024 वर्ग किलोमीटर
राजधानी- गाँधीनगर
मौसम- ऊष्णदेशीय
जनसँख्या- 50. 67 मिलियन (2001 की जनगणना के अनुसार)
भाषा- गुजराती

भारतवर्ष का औद्योगिक राज्य माना जाने वाला गुजरात देश के कुल औद्योगिक उत्पादन के 19.8 प्रतिशत उत्पादन का हिस्सेदार है। देश के पश्चिमी क्षेत्र में बसे इस राज्य की सीमा एक ओर पाकिस्तान से मिलती है तो दूसरी ओर इसकी उत्तर-पूर्वी सीमा मध्य प्रदेश, पूर्वी सीमा महाराष्ट्र जैसे राज्यों व दमन और दीव तथा दादरा और नागर हवेली जैसे केंद्र शासित प्रदेशों से घिरी हुई है। इसके पश्चिमी तट पर अरब सागर इसकी शोभा बढ़ता है। गाँधीनगर इस राज्य की राजधानी है, जबकि अहमदाबाद यहाँ कि व्यावसायिक राजधानी मानी जाती है।
सामाजिक परिवेश : इस राज्य की आधिकारिक भाषा गुजराती है। इस राज्य में अनुमानतः 89.1 प्रतिशत हिंदू, 9.1 प्रतिशत मुस्लिम, 1.0 प्रतिशत जैन और 0.1 प्रतिशत सिख धर्मानुयायी हैं। ऐतिहासिक दृष्टिकोण से यहाँ पर कई विदेशी समूहों का आगमन हुआ, जिनमें अधिकतर लोग यहाँ की मिट्टी में रच-बस गए। इनमें से प्रमुख प्रजातियाँ तुर्क, फारसी व अरबी रहीं, जिन्होंने न सिर्फ यहाँ की सँस्कृति को अपनाया बल्कि धर्म को भी आत्मसात कर लिया।
यदि जातियों की बात करें तो हिंदू धर्म की कई जातियाँ यहाँ पर निवास करती हैं, जिनमें सबसे अधिक प्रतिशत कोली जाति (20 प्रतिशत) का और दूसरा स्थान पाटीदार (15 प्रतिशत) जाति का है। अन्य हिंदू जातियों में प्रमुख जातियाँ हैं- ब्राह्मण, वैष्णव, सुथार, लुहार, कादिया, कुम्हार, आदिवासी, राजपूत, बनिया, हरिजन, लोहाण इत्यादि।

साथ ही यहाँ पर उत्तरप्रदेश से आई अहीर जाति भी पाई जाती है, जो मूल रूप से दूध व दही का व्यवसाय करती है। ऐसा माना जाता है कि यह जाति भगवान कृष्ण के साथ गोकुल से यहाँ आई थी। वहीं यहाँ के कई आदिवासी समूह आज भी अपने आप में विलक्षण हैं। यहाँ पर पाई जाने वाली प्रमुख आदिवासी प्रजाति वागड़िया, धाबड़िया और कच्छी नामक तीन प्रमुख समूहों में विभाजित हैं। साथ ही औद्योगिक रूप से सबल होने के कारण यह राज्य विभिन्न राज्यों के निवासियों को भी अपनी ओर आकर्षित करता है।
आर्थिक पटल : देश का सबसे धनी राज्य माना जाने वाला यह राज्य देश के कुछ प्रमुख उद्योगों का गढ़ माना जाता है। घरेलू उत्पादन के साथ-साथ यहाँ पर कृषि का काफी महत्व है जिसमें सूत, मटर, मेवे, गन्ना, दूध और दूध के उत्पादन काफी महत्वपूर्ण हैं। साथ ही यहाँ पर सीमेंट और पेट्रोल जैसे औद्योगिक पदार्थों का भी भारी मात्रा में उत्पादन किया जाता है।
गौरतलब है कि यह राज्य भारत के औद्योगिक उत्पादन का बीस प्रतिशत का अकेला हिस्सेदार है। 10 प्रतिशत खनिजों के उत्पाद न के साथ-साथ देश के कपड़ा उद्योग में भी इस राज्य की 25 प्रतिशत की भी हिस्सेदारी है। इतना ही नहीं, विश्व का सबसे बड़ा जहाज बनाने का कारखाना भी गुजरात के आलंग जिले में स्थित है। साथ ही रिलायंस समूह का मूल भी इस राज्य से जुड़ा हुआ है। साथ ही अमूल का नाम भी इसी राज्य से जुड़ा है, जिसने यहाँ पर दुग्धोत्पादन को नई दिशा दी।
प्रशासनिक और राजनीतिक पटल : 2006 में कराए गए एक सर्वेक्षण से प्राप्त आँकड़ों के अनुसार इस राज्य में 25 प्रशासनिक जिले विद्यमान हैं। इस राज्य का प्रशासन 182 सदस्यों वाली विधानसभा के हाथों में है, जिसमें 13 सीटें अनुसूचित जातियों और 26 सीटें अनुसूचित जनजातियों के लिए आरक्षित हैं। वर्तमान में इस राज्य के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी हैं, जो इस राज्य के अब तक के सर्वाधिक लंबे समय के कार्यकाल वाले मुख्यमंत्री हैं।


और भी पढ़ें :