महिलाओं में यूटीआई (यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन) urinary tract infection: 7 जरूरी बातें





महिलाओं में यूटीआई (यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन) urinary tract infection: 7 जरूरी बातें

स्त्री रोग विशेषज्ञों के अनुसार कई महिलाओं को कभी ना कभी अपने जीवन में यूरिनेरी ट्रैक्ट इंफेक्शन यानी यूटीआई ज़रूर हो जाता हैं।
इसका अर्थ है मूत्राशय में संक्रमण। वैसे तो यह पुरुषों को भी होता है लकिन पुरुष की तुलना में यह संक्रमण महिलाओं में होने की संभावना ज़्यादा होती हैं। क्योंकि स्त्रियों के पुरुषों से अधिक जटील होते हैं। जब आपको मूत्राशय में संक्रमण हो तो इसका सीधा असर किडनी पर होता है और समस्या बढ़ने पर होने तक की नौबत भी आ सकती है।

असल में गुप्तांग महिलाओं का बेहद संवेदनशील शारीरिक भाग होता है और इसमें बाहरी संक्रमण फैलने का खतरा सबसे ज्यादा होता है। अगर यूरेथरा यानी वह ट्यूब जहां से यूरिन पास होता है, कि अच्छी तरह सफाई ना की जाए तो संक्रमण वहां से होते हुए ब्लैडर तक पहुंच सकता है जो कि यूटीआई का जिम्मेदार होता है। आइए जानते हैं उन लक्षणों को जिनसे आप जान सकें कि कहीं आपको यूटीआई तो नहीं हुआ ?

यूटीआई के यह 7 लक्षण दिखें तो यूरिन टेस्ट करवाएं और डॉक्टर की सलाह लें :

गुप्तांग में खुजली व जलन होना।
यूरिन में रूकावट आना एवं रुक-रुक कर यूरिन आना।
बार-बार टॉयलेट जाने की बैचेनी होना और जब जाएं तो थोड़ी सी यूरिन होना।
यूरिन का रंग अधिक पीला होना व उसमे दुर्गन्ध आना।

लोअर एब्डमन में दर्द होना है व किसी तरह का दबाव महसूस करना।

यूरिन में ब्लड आना।

गंभीर यूटीआई की स्थिति में थकान व बुखार आ सकता है।



यूटीआई की वजह और इससे बचने के उपाय क्या हो सकते हैं?

1) इसकी एक अहम वजह महिलाओं का अपने संवेदनशील भाग के प्रति लापरवाही है।

2) ध्यान रखें कि अपने गुप्तांग को हमेशा साफ और सूखा रखें। गीले होने के कारण भी इसमें बैक्टेरिया होने की आशंका बढ़ जाती हैं।

3) टॉयलेट आने पर उसे अधिक समय रोके नहीं।



4) क्योंकि यूटीआई में मूत्राशय में बैक्टेरिया जमा हो जाते हैं तो पानी ज़्यादा पिएं ताकि बैक्टेरिया बाहर निकल जाए।



5) यही नहीं संभोग के बाद भी सफाई बहुत जरूरी होती हैं क्योंकि कई मामलों में सेक्स के बाद भी यूटीआई होने की आशंका में इजाफा हो जाता है।

6) हर संभोग के बाद टॉयलेट ज़रूर जाएं और गुप्तांग साफ़ करें।


7) अपना बाथरूम हमेशा साफ़ रखें और पब्लिक शौचालय में ज़्यादा गन्दी जगह पर टॉयलेट ना जाएं।




Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

बालों को मख़मली बनाए ये 5 हेयर मास्क

बालों को मख़मली बनाए ये 5 हेयर मास्क
आमतौर पर लोग बालों में तेल लगाना, शैंपू करना और ज्यादा से ज्यादा शैंपू के बाद कंडीशनिंग ...

ग़ज़ल : उम्र भर सवालों में उलझते रहे...

ग़ज़ल : उम्र भर सवालों में उलझते रहे...
उम्र भर सवालों में उलझते रहे स्नेह के स्पर्श को तरसते रहे, फिर भी सुकूँ दे जाती हैं ...

4 प्रकार के हेयर मास्क, पढ़ें आपको कौनसा लगाना चाहिए?

4 प्रकार के हेयर मास्क, पढ़ें आपको कौनसा लगाना चाहिए?
बालों को मखमली और मुलायम बनाने के लिए हेयर मास्क लगाया जाता है। कई प्रकार के हेयर मास्क ...

हेल्दी रहने के 10 उपयोगी टिप्स, खास आपके लिए...

हेल्दी रहने के 10 उपयोगी टिप्स, खास आपके लिए...
हमेशा अपने जीवन में एक आदत को शामिल कर लें, वो यह कि जिंदा रहने के लिए खाएं, खाने के लिए ...

जानिए, दान से संबंधित ये 10 विशेष नियम...

जानिए, दान से संबंधित ये 10 विशेष नियम...
स्वयं जाकर दिया हुआ दान उत्तम एवं घर बुलाकर दिया हुआ दान मध्यम फलदायी होता है।

नेपाल में भी चला है प्रधानमंत्री मोदी का जादू

नेपाल में भी चला है प्रधानमंत्री मोदी का जादू
नेपाल के साथ भारत के संबंध भले ही सदियों के रहे हों, रोटी-बेटी का व्यवहार हो, सीमाएं खुली ...

ग्रह कैसे असर डालते हैं हम पर, आइए पढ़ें रोचक जानकारी

ग्रह कैसे असर डालते हैं हम पर, आइए पढ़ें रोचक जानकारी
दूर बैठे ग्रह नक्षत्र कैसे मानव जीवन पर प्रभाव डाल सकते हैं? अक्सर यह सवाल मनुष्य के ...

भारत में हुआ है ज्योतिष का उदय, जानिए ज्योतिष के 10 महान ...

भारत में हुआ है ज्योतिष का उदय, जानिए ज्योतिष के 10 महान ग्रंथ
ज्योतिष का उदय भारत में हुआ, क्योंकि भारतीय ज्योतिष शास्त्र की पृष्ठभूमि 8000 वर्षों से ...

भगवान सूर्यदेव की 10 बातें जो आप नहीं जानते...

भगवान सूर्यदेव की 10 बातें जो आप नहीं जानते...
सूर्यस्वरूप सृष्टि में सबसे पहले प्रकट हुआ इसलिए इसका नाम आदित्य पड़ा।

हर भगवान के वाहन के पीछे छुपा है कोई राज

हर भगवान के वाहन के पीछे छुपा है कोई राज
सारे देवी-देवता पशुओं पर ही सवार हैं। क्यों हर भगवान के साथ कोई पशु जुड़ा हुआ है? आपको ...