ई-कॉमर्स में करियर अवसर

वेबदुनिया डेस्क

WD|
FILE
कॉमर्स विषय के साथ एक शानदार करियर बनाया जा सकता है। सीए, सीए, सीएस, इंडस्ट्रीयल कॉस्ट एंड वर्क अकाउंट जैसे करियर क्षेत्र तो हैं ही, टेक्नोलॉजी के आने के साथ कॉमर्स विषय में बेहतर हुए हैं। ऐसा ही एक क्षेत्र है ई-कॉमर्स। आजकल अधिकतर कंपनियां अपना व्यापार इलेक्ट्रॉनिक मीडिया या नेट पर कर रही हैं।

नेट पर होने वाले व्यापारिक लेन-देन को ई-कॉमर्स कहा जाता है। भारत में वर्तमान में ई-कॉमर्स बाजार का आकार 10 बिलियन डॉलर का है। 2020 तक इसके 200 बिलियन बढ़ने की संभावना है। नई-नई वेबसाइट्‍स ई-कॉमर्स के क्षेत्र में पैर जमा रही हैं। लोगों की रुचि ऑनलाइन शॉपिंग में बढ़ रही है। अब लोग घर बैठे खरीदी करना चाहते हैं।

ई-कॉमर्स के बढ़ते क्षेत्र से इसमें टेक्नोलॉजी में दक्ष युवाओं की मांग बढ़ती जा रही है। देश में 2020 में 950 मिलियन लोगों के पास मोबाइल फोन होंगे। इंटरनेट यूजर्स की संख्या भी दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। एक अनुमान के मुताबिक 2020 तक 750 मिलियन लोग इंटरनेट का प्रयोग करेंगे।
ऐसे में इंटरनेटर पर वस्तु की खरीदी-बिक्री भी बढ़ जाएगी। नई कंपनियां अपने प्रोडक्ट्‍स इंटरनेट के माध्यम से लोगों को तक पहुंचाएंगी। बढ़ते बाजार से इस क्षेत्र में दक्ष युवाओं की मांग भी बढ़ने लगेगी। ई-कॉमर्स में ऐसे युवाओं अपना करियर बना सकते हैं, जो टेक्नीकल एक्सपर्ट्‍स हों। ई-कॉमर्स का कोर्स नेटवर्किंग और प्रोग्रामिंग की विशेषज्ञता वाला कोर्स होता है।
ई-कॉमर्स में मैनेजमेंट और कम्प्यूटर प्रोग्रामिंग, नेटवर्किंग का ज्ञान दिया जाता है। इस कोर्स को करने के बाद युवाओं के लिए बड़ी कंपनियों में अच्छे पैकेज के साथ प्लेसमेंट होता है।

क्या है योग्यता - 12वीं के बाद देश की कई यूनिवर्सिटी कॉमन इंट्रेंस टेस्ट लेती है जिसमें 10वीं का गणित, सामान्य ज्ञान, रिजनिंग अंग्रेजी वॉक्यूब्लेरी का टेस्ट होता है। इस टेस्ट को पास करने के बाद युवाओं के पास ई-कॉमर्स में पांच वर्षीय इंटीग्रेटेड एमबीए करने का अवसर होता है। इसे कर लेने के बाद युवाओं के पास अच्‍छे करियर अवसर होते हैं।

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :