बजट 2015-16 के खास बिंदु

नई दिल्ली|
नई दिल्ली। वित्तमंत्री ने मोदी सरकार का पहला बजट पेश किया है। जानिए बजट के खास बिंदु-
 
में कोई बदलाव नहीं : मोदी सरकार से जनता को उम्मीद थी कि टैक्स में छूट बढ़ाकर 3 लाख की जाएगी, लेकिन टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया गया और छूट यथावत रहेगी। आम वेतन भोगी को राहत देते हुए में छूट प्रदान की गई। इसे 800 से 1600 बढ़ाकर रुपए कर दिया गया। अगले 4 साल में कॉर्पोरेट टैक्स में 30 फीसदी से घटाकर 25 फीसदी करने का प्रस्ताव ताकि रोजगार बढ़ सके। रिबेट खत्म होगी। 25 हजार के इंश्योरेंस पर टैक्स में छूट मिलेगी वेल्थ टैक्स भी खत्म कर दिया गया। >
> सोने पर मिलेगा ब्याज : भारत बजट पेश करने के दौरान कहा कि देश में सोने के लिए गोल्ड का मेटल अकाउंट बनाया जाएगा जिस पर ब्याज मिलेगा। इससे विदेश से आने वाले सोने पर रोक लगेगी। गोल्ड बांड भी जारी होगा। अशोक चक्र के साथ इंडियन गोल्ड कॉइन जारी करेंगे। विदेशी सोने के सिक्कों की जगह देशी सोने के सिक्कों को बढ़ावा देंगे।
ईपीएफ और पेंशन स्कीम चुनने का विकल्प : जेटली ने घोषणा की कि कर्मचारियों को ईपीएफ और पेंशन स्कीम में से एक को चुनने का विकल्प मिलेगा।

सब्सिडी के लिए जैम योजना : वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बजट पेश करने के दौरान कहा कि सरकार ने देश की जनता के लिए जैम योजना शुरू ‍की है। यह योजना जनता को सब्सिडी पहुंचाने के लिए शुरू की। जेटली ने कहा कि 'जैम' योजना शुरू की। जेटली ने कहा कि ज- जनधन, ए- आधार, एम- मोबाइल यानी 'जैम' शुरू की, जिससे जनता के खाते में सीधे सब्सिडी पहुंचाई जा सके। सरकार ने जनता को जन-धन योजना से जोड़ा।

कैशलेस ट्रांजेक्शन योजना :  सरकार ने डेबिट-क्रेडिट कार्ड को बढ़ावा देने की योजना बजट में पेश की। इसमें ट्रांजेक्शन को डेबिड और क्रेडिट कार्ड से करने की सिफारिश की।


सर्विस टैक्स से महंगी होंगी चीजें : बजट पेश करने के दौरान जेटली सर्विस टैक्स 14 प्रतिशत कर दिया, जिससे सभी वस्तुएं महंगी होगी। रेस्टोरेंट में खाना,

नए एम्स खुलेंगे : वित्तमंत्री अरुण जेटली ने पंजाब, तमिलनाडु, हिमाचल में एम्स बनाने की घोषणा की। साथ ही जम्मू-कश्मीर में आईआईएम बनेंगे। बिहार में एक एम्स हैं। एम्स की तरह एक और संस्थान बनाया जाएगा। अरुणाचल में फिल्म इंस्टीट्‍यूट बनाया जाएगा। धनबाद को आईआईटी का दर्जा दिया जाएगा।

हर व्यक्ति को मिलेगा रोजगार : वित्तमंत्री अरुण जेटली ने बजट भाषण के दौरान कहा कि सरकार का लक्ष्य देश में बेरोजगारी दूर करने का है। उन्होंने कहा कि 2022 तक देश के हर शख्स को रोजगार दिया जाएगा।


कालेधन पर सख्त : वित्तमंत्री अरुण जेटली ने बजट भाषण के दौरान कहा कि सरकार कालेधन पर नया कानून बनाएगी। जेटली ने कहा कि रिटर्न में विदेश में संपत्ति का ब्योरा देना होगा। इसके अलावा अगर विदेश में कालाधन छुपाया तो सजा के प्रावधान रहेंगे। विदेशों में काला धन छिपाने पर 7 साल की सजा। विदेशों में काला धन पाए जाने पर पेनल्टी 300 फीसदी तक लगाई जाएगी।

गरीबों के लिए चार योजना : मोदी सरकार ने गरीबों के लिए तीन योजनाएं बनाई- ये तीन योजनाएं हैं, अटल पेंशन योजना, सुरक्षा बीमा योजना, जीवन ज्योति बीमा योजना।वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि सरकार प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना शुरू करेगी। इसमें व्यक्ति का दो लाख रुपए का बीमा किया जाएगा। इनमें गरीबों की बीमा किया जाएगा। अटल पेंशन योजना में 60 साल बाद मिलेगा पैसा। 12 रुपए के प्रीमियम  पर 2 लाख का बीमा।

गरीबी से नीचे के बुर्जुगों के लिए यह योजना बनाई जाएगी। इसमें ईपीएफ और पीपीएफ में बिना दावों के रुपए का उपयोग किया जाएगा। इन योजनाओं में ईपीएफ और पीपीएफ की बिना दावों की राशि का प्रयोग का प्रयोग किया जाएगास वित्त मंत्री ने कहा कि ईपीएफ में बिना दावे की राशि 6 हजार करोड़ रुपए और पीपीएफ में बिना दावे की राशि करीब 3 हजार रुपए है।

रक्षा बजट : वित्तमंत्री अरुण जेटली ने बजट पेश करने के दौरान रक्षा क्षेत्र 24,6727 करोड़ देने का प्रावधान पेश किया। मोदी सरकार ने रक्षा क्षेत्र में पहले ही विदेशी निवेश की इजाजत दे दी है।


पर्यटन को बढ़ावा :  भारत सरकार ने पर्यटन को बढ़ावा दिया। 43 देशों के पर्यटकों को वीजा ऑन अराइल योजना सफल रही है। वाराणसी, अमृतसर, हैदराबाद, लेह, हम्पी की धरोहरों के लिए वर्ल्ड हैरिटेज बनाएंगे। 43 से बढ़ाकर 150 देशों को वीजा ऑन अराइवल सुविधा दी जाएगी।

नमामि गंगे योजना : मोदी सरकार ने स्वच्छ गंगा योजना को दोहराते हुए स्वच्छ गंगा अभियान पर जोर दिया। बजट में नमामि गंगे योजना के लिए 4173 करोड़ रुपए का आवंटन किया। स्वच्छ भारत अभियान के लिए 2 प्रतिशथ सेस भी लगाया गया।




और भी पढ़ें :