जब आशा से खुश होकर आरडी बर्मन ने दिया था 100 रुपये का इनाम

आशा भोसले और राहुलदेव बर्मन ने अनेक यादगार गीत दिए हैं। जब भी लीक से हटकर कोई गाना होता था तो राहुलदेव को सबसे पहले आशा की याद आती थी। आशा कहती भी थी कि इसी तरह गाने लेकर तुम मेरे पास आते हो और बाकी के गीत दीदी लता से गवाते हो। इस पर आरडी कहते थे कि लता तो डॉन ब्रैडमैन (बैट्समैन) हैं और तुम गैरी सोबर्स (ऑलराउंडर)। यदि तुम ऐसे गीत नहीं गाओगी तो मैं इस तरह की धुन बनाना ही बंद कर दूंगा।

ALSO READ:
पलटन : फिल्म समीक्षा


ऐसा ही एक गीत फिल्म 'तीसरी मंजिल' का लेकर आशा के पास आरडी पहुंचे। गीत के बोल थे आजा-आजा मैं हूं प्यार तेरा। यह गाना आशा को मोहम्मद रफी के साथ गाना था। आशा ने कहा कि यह गाना बहुत कठिन है, मैं नहीं गाऊंगी। यह सुन राहुलदेव बर्मन चकित रह गए कि आशा ने इससे कठिन गीत गा रखे हैं और पता नहीं इस गाने को क्यों मना कर रही हैं।

ने जोर डाला तो आशा ने कहा कि मैं रिहर्सल करने के बाद बताऊंगी। दस दिनों तक वे रिहर्सल करती रहीं। इसके बाद उन्होंने गाना गाया और क्या कमाल का गाया। राहुल देव बर्मन की उम्मीद से कहीं अच्‍छा। खुश होकर आरडी ने आशा को सौ रुपये का इनाम दिया।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :