करणी सेना ने वापस लिया विरोध, पद्मावत म.प्र., राजस्थान, गुजरात में होगी रिलीज

फिल्म को देखे बिना ही करणी सेना ने जम कर विरोध किया। भंसाली के साथ मारपीट की। फिल्म की रुकवाने के लिए प्रदर्शन किए। वे राजस्थान, मध्यप्रदेश, गुजरात और गोआ में फिल्म की रिलीज रुकवाने में सफल भी रहे।

अब फिल्म देखने के उन्हें लगा कि फिल्म में ऐसा कुछ भी नहीं है जिसका विरोध किया जाए। इसे देखते हुए उन्होंने भंसाली की फिल्म 'पद्मावत' के खिलाफ अपना विरोध वापस लिया है। जल्दी ही उन प्रदेशों में फिल्म रिलीज हो सकती है जहां पर इसे किया गया है।

2 फरवरी को श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना, मुंबई के लीडर योगेन्द्र सिंह ने संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह के कहने पर कुछ सदस्यों के साथ फिल्म देखी। फिल्म देखने पर उन्होंने पाया कि इसमें राजपूतों के त्याग और गौरव को बखूबी पेश किया गया है। फिल्म देखने के बाद हर राजपूत गौरवान्वित महसूस करता है।

अलाउद्दीन खिलजी और रानी पद्मिनी के बीच कुछ भी ऐसे दृश्य नहीं हैं जो आपत्तिजनक हो। उन्होंने एक पत्र जारी कर घोषणा की कि करणी सेना अपना विरोध वापस लेती है। अब जल्दी ही यह फिल्म मध्यप्रदेश, गुजरात और राजस्थान में रिलीज हो जाएगी।

दूसरी ओर करणी सेना के संरक्षक कहे जाने वाले लोकेन्द्र सिंह कालवी ने कहा कि वे अब भी फिल्म के बैन के हक में खड़े हैं। जिस सेना ने विरोध वापस लिया है वो करणी सेना की डुप्लिकेट कॉपी है।


और भी पढ़ें :