हिट निर्देशकों की सबसे बड़ी फ्लॉप फिल्म

समय ताम्रकर|
Widgets Magazine
में ऐसे कई फिल्म निर्देशक हुए हैं जिनकी अधिकांश फिल्मों को दर्शकों ने सफल बनाया। कई ऐतिहासिक फिल्में इन निर्देशकों ने बनाईं, लेकिन कुछ ऐसी ‍भी फिल्में रहीं जो बॉक्स ऑफिस पर असफल रही। कभी ये फिल्मकार फेल हो गए तो कभी दर्शक। आइए चर्चा करते हैं ऐसे ही सफल निर्देशक और उनकी सबसे बड़ी फ्लॉप फिल्मों की। 
 
: कागज के फूल (1959) 
गुरुदत्त कितने बेहतरीन निर्देशक थे, ये बताने की जरूरत नहीं है। बाजी (1951), जाल (1952), आर पार (1954), मि. एंड मिसेस 55 (1955), प्यासा (1957) और कागज के फूल (1959) जैसी शानदार फिल्में उन्होंने बनाईं। ये फिल्में आज भी देखी जाती हैं। सिनेमा को जो बारीकी से समझना चाहता है, अध्ययन करना चाहता है, उसके लिए गुरुदत्त की ये फिल्में किसी खजाने से कम नहीं हैं। गुरुदत्त द्वारा निर्देशित फिल्म 'कागज के फूल' बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह से असफल रही थी। इसका जबरदस्त झटका गुरुदत्त को लगा था। यह फिल्म उनके दिल के बेहद करीब थी। फिल्म में गुरुदत्त, वहीदा रहमान और जॉनी वॉकर ने अभिनय किया था। 
यह फिल्म ऐसे फिल्म निर्देशक की कहानी है जिसके गृहस्थ जीवन में समस्या है। बरसात की एक रात में इस निर्देशक की मुलाकात एक महिला से होती है जिसे वह अपना कोट देता है। कोट लौटाने के लिए अगले दिन यह महिला स्टुडियो आती है और अनचाहे कैमरे के सामने आ जाती है। निर्देशक को इस महिला में कलाकार नजर आता है। वह उसे मौका देता है और यह महिला बड़ी स्टार बन जाती है। दोनों की नज‍दीकियों की चर्चा पत्रिकाओं के गॉसिेप कॉलम में होती है। फिल्म की कहानी में हमें गुरुदत्त के जीवन की झलक ‍भी मिलती है। 
 
फिल्म को बहुत ही उम्दा तरीके से शूट किया गया। लाइट एंड शैडो का कमाल इस फिल्म में देखने को मिलता है। गुरुदत्त के निर्देशन की छाप हर दृश्य में आप महसूस करते हैं। गुरुदत्त और वहीदा ने अद्‍भुत अभिनय इस फिल्म में किया। गीता दत्त द्वारा गाया गीत 'वक्त ने किया क्या हसी सितम' आज भी लोगों की जुबां पर है। 
 
जब फिल्म रिलीज हुई तो असफल रही। इसकी असफलता ने गुरुदत्त को तोड़ दिया। कई लोगों ने माना कि यह समय से आगे की फिल्म है। फिल्मकार नहीं बल्कि दर्शक असफल रहे हैं जो इस फिल्म को समझ नहीं पाए। बाद में इसे क्लासिक फिल्म माना गया। कुछ क्रिटिक्स ने इसे 'ग्रेटेस्ट फिल्म्स ऑफ ऑल टाइम' में भी स्थान दिया। यदि आपने यह फिल्म नहीं देखी है तो जरूर देखिए। 
Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।