अभिषेक बच्चन तो साक्षात् भगवान राम हैं : विक्की कौशल

विक्की कौशल से वेबदुनिया की विशेष बातचीत


'मुझे समझ नहीं आता कि मैं कैसे रिएक्ट करूं। कभी लगता है कि चलती कार में खूब जोर से चिल्ला दूं, फिर कभी लगता है कि घर में बंद कमरे में खुश होकर चीखता जाऊं। मेरी मां भी कहती है कि मुझे तेरी सफलता देखकर बहुत अच्छा लगता है। तू कैसा फील करता है यह तो मुझे भी समझ नहीं आता कि मैं क्या बोलूं।'
अपनी लगातार दो हिट फिल्में 'राजी' और 'संजू' के बाद अभिनेता को समझ नहीं आ रहा कि अपनी मेहनत और लगन को वे बयां कैसे करें? तो वो अपने घरवालों को खुश देखकर ही खुशियां मना लेते हैं।

विक्की 'वेबदुनिया' संवाददाता रूना आशीष को आगे बताते हैं कि कि मैं उड़ी की शूट करके सर्बिया में होटल लौटा ही था कि पापा का रात में फोन आया। वो लंदन में अपनी शूट में बिजी थे। वो बोले कि बेटा, आज मुझे किसी ने लोगों से तार्रुफ करते वक्त कहा कि ये हैं श्याम कौशल, ये विक्की कौशल के पापा हैं। वो मौका मेरे लिए बहुत इमोशनल मौका था। मेरे और पापा के लिए ये दिन बहुत यादगार दिन था।
विक्की ने एक और वाकया हमसे शेयर किया। वो बोले मेरी मां बिलकुल फिल्मी नहीं हैं, लेकिन हाल ही में जब वो शबाना आजमी से मिलीं तो एकदम उनके मूंह पर ताले लग गए। हुआ यूं कि हम लोग मेरे छोटे भाई की फिल्म 'गोल्ड' की स्पेशल स्क्रीनिंग से बाहर लौट रहे थे और शबाना और जावेद साहब मिले। शबाना ने हाथ जोड़कर व झुककर मेरी मां से पूछा कि आपने अपने बच्चों को क्या खिलाकर बड़ा किया है कि वे तो कमाल ही किए जा रहे हैं। मैंने वो फोटो क्लिक कर लिया। उधर जावेद साहब ने पापा से पूछा कि 2 ही बेटे हैं या कुछ और भी छुपाकर रखे हैं, जो सीधे फिल्मी पर्दे पर ही दिखेंगे?
ALSO READ:डिजिटल एंटरटेनमेंट: नए टैलेंट के लिए खुली हैं राहें

आपके भाई सनी भी फिल्मों में आ गए हैं?
जब हम सब लोग 'गोल्ड' देखकर लौट रहे थे, तो मुझे बहुत फख्र महसूस हो रहा था कि मैं उसका भाई हूं और वो मेरा छोटा भाई है। मेरे मम्मी-पापा हमेशा कहते थे कि विक्की जब हम तुम्हें पर्दे पर देखते हैं या अच्छा परफॉर्म करते देखते हैं और लोग तारीफ करते हैं, तो जो अच्छी-सी फीलिंग आता है, वो तुम नहीं समझोगे। 'गोल्ड' देखने के बाद मैंने लौटते हुए कार में बैठे-बैठे पापा-मम्मी से कहा कि मुझे भी अब वही अच्छी-सी फीलिंग समझ आने लगी है। सच कहूं तो 2018 में मेरी सारी हिट फिल्मों ने मुझे वो खुशी नहीं दी, जो मुझे मेरे भाई की फिल्म 'गोल्ड' ने दी।

अभिषेक के साथ काम करके कैसा लगा?
वो तो साक्षात भगवान राम हैं। कितना भी स्यापा हो रहा हो आसपास, वो आकर जरूर पूछेंगे कि खाना खा लिया क्या? मुझे एक बार फिल्म शुरू होने के पहले वो एक पार्टी में मिले थे। तब अभिषेक ने मुझे पास बुलाकर कहा कि तुम्हारे और मेरे पापा ने बहुत मेहनत की और नाम किया है। बहुत इज्जत कमाई है और अब हमारा समय है, जब हम उन्हें ये सब लौटाएं।

आज की पीढ़ी ने 'जय-वीरू' नहीं देखे लेकिन 'संजू' और 'कमली' देखे हैं?
मुझे कई लोग कहते हैं कि मेरे पास अपना एक ग्रुप है, जो इंजीनियरिग के समय से मेरे साथ है। वो मुझे असल दुनिया से जोड़े रखते हैं। रही बात फिल्म की, तो हाल ही में एक जगह पर किसी ने मेरे साथ फोटो खींची और फिर मुझे रुकने के लिए कहा। फिर उस शख्स ने अपने किसी दोस्त से मिलवाया और कहा कि ये मेरा 'कमली' है। मैंने तो उन दोनों को जोर की झप्पी दे दी। उन दोनों ने मेरा दिन बना दिया।

आप 'मनमर्जियां' के कैरेक्टर डीजे सांड कितने हैं?
मैं कमिटमेंट फोबिक नहीं हूं। हम पता नहीं, प्यार करने से पहले इतने सवाल क्यों कर लेते हैं? वादा करके तो देखो। हम कितना दिमाग लगाते हैं, ये वो ही करेक्ट वाला या वाली तो है। कहीं हम गलती तो नहीं कर रहे? कहीं कुछ गलत तो नहीं हो जाएगा? इन सबके जब तक जवाब मिलते हैं, तब तक हमारे उस इमोशन की हालत पस्त हो चुकी होती है। वैसे मेरा कैरेक्टर जिस तरह का हो, वो मेरा अल्टर इगो है। अगर दुनिया कभी थम जाए और सिर्फ मैं चल रहा हूं, तो मैं भी बाल नीले कराऊं और एक जगह से दूसरी जगह नाचते हुए पहुंचूं।

आपकी गर्लफ्रैंड है?
नहीं... वैसे ये कितना रिटौरिक (आडंबर से भरा) सवाल और जवाब है। मेरी तो शादी भी हो गई। उससे तो भी बोलूंगा कि मेरी कोई गर्लफ्रैंड नहीं है।


और भी पढ़ें :