सोचा नहीं था कि एक दिन गोलमाल सीरिज का चौथा पार्ट बनाऊंगा: रोहित शेट्टी

रोहित शेट्टी की फिल्म 'गोलमाल अगेन' ने बॉक्स ऑफिस पर धूम मचा दी है और यह बात तय हो गई है कि गोलमाल 5 भी बनेगी। रोहित ने वेबदुनिया संवाददाता रूना आशीष से कहा था कि यदि चल निकली तो वे गोलमाल 5 बनाएंगे। रोहित ने कहा कि यह फिल्म देख लोगों का मज़ा आएगा और उन्हें एक साफ सुथरी और सादगी से भरी फिल्म देखने को मिलेगी।
निर्देशक को प्यार मिले, ऐसा बहुत कम होता है।
मैं मानता हूं कि लोगों का प्यार मुझे बहुत मिला है। लोकप्रियता और प्रशंसा भी मिली है। इसका एक बहुत बड़ा कारण है सैटेलाइट पर मेरी फिल्मों का दिखाया जाना। गोलमाल सीरिज की फिल्में पिछले कई सालों से में हर हफ्ते टीवी पर दिखाई गई है। सिंघम और सिंघम रिटर्न्स शायद हर 15 दिन में टीवी पर प्रसारित हुई है। इसी की वजह से लोगों का मुझे प्यार मिला है।
टीवी ने मुझे घर-घर पहुंचाया है। शोज़ की वजह से लोगों को मालूम है कि मैं कैसा दिखता हूं। एक निर्देशक को चेहरा मिल जाता है।

आपकी फिल्मों में घर इतने रंग-बिरंगे क्यों होते हैं?
मेरी फिल्में ऐसी है कि उसमें वायब्रेंट कलर होना ज़रूरी है। मैं इस बात पर बहुत विश्वास रखता हूं कि आंखों को अच्छा लगना चाहिए। कम से कम गोलमाल जैसी फिल्म के लिए यह बहुत ज़रूरी है। वहीं अगर आप सिंघम देखेंगे तो उसमें आपको ऐसे घर नहीं दिखेंगे क्योंकि वो एक पुलिसवाले की कहानी है। उसमें ड्रायनेस दिखानी होती है, एक संजीदगी रखनी होती है। अब गोलमाल है या बोल बच्चन है या चेन्नई एक्सप्रेस है तो ये खुशियां देने वाली फिल्में हैं। इसमें एक फील गुड फैक्टर है और अब तो वो मेरा ट्रेड मार्क हो गया है। मुझे ये पसंद भी है।

इसके लिए आप कुछ टेक्निकल सपोर्ट भी लेते हैं?
इस बार गोलमाल की शूटिंग हमने 5 माह में खत्म कर ली थी, लेकिन इसकी तैयारी हमने पिछले एक साल से की है। हमने इसमें इतने सारे कंप्यूटर ग्राफिक्स दिए हैं कि फिल्म देखते समय आपको लगेगा कि आप कॉमिक बुक के पन्ने पलट रहे हैं।

गोलमाल को जब पहली बार बना रहे थे तो लगा था कि इतनी हिट होगी?
नहीं.. हमको तो लगा था कि एक बार बस चल जाए। एक तो मैं एक्शन डायरेक्टर, फिर एक एक्शन हीरो। ऐसे में हम जैसे लोग एक कॉमेडी फिल्म बनाने वाले हैं सुनकर इंडस्ट्री को लगा कि हम पागल हो गए हैं। हम फ्लॉप फिल्म बनाने जा रहे हैं, लेकिन जैसे जैसे शूटिंग आगे बढ़ती गई हमारा विश्वास भी बढ़ता गया। फिल्म की कहानी कोई बड़ी या पेचीदा नहीं थी। इसमें सादगी है औऱ वही लोगों को पसंद आया। जब मैं वृजेश हीरजी का रोल भी शूट कर रहा था तो मैं डर गया था कि कहीं दर्शक उसे नकार न दें कि एक कोई शख्स है जो सांप लेकर आया है, वो उड़ रहा है। मार रहा है। हमें तो लगा कि कुछ अलग कर दिया है, अब देखते हैं कि दर्शकों का क्या कहना है। अब देखिए, वो ही एक कल्ट कैरेक्टर बन गया, वैसे भी जब फिल्म बन रही हो तो आपको एक फीलिंग आ जाती है कि सब ठीक जा रहा है, लेकिन ऐसा भी होगा कि हम एक दिन चौथा पार्ट बनाने वाले हैं ये तो सोचा भी नहीं था।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :