क्यों पड़ती हैं चेहरे पर झुर्रियां?


उम्र के साथ-साथ शारीरिक परिवर्तन होना शरीर की एक स्वाभाविक क्रिया है, लेकिन यदि चेहरे पर असमय झुर्रियां पड़ने लगें तो इस बात को गंभीरता से लेना चाहिए। क्यों पड़ती हैं चेहरे पर झुर्रियां? यदि यह समझ लें तो परहेज एवं खानपान द्वारा असमय आई झुर्रियों से हमेशा के लिए मुक्ति पा सकते हैं।

महिलाएं अक्सर अपने स्वास्थ्य के प्रति बहुत लापरवाही बरतती हैं। इसी क्रम में वे अक्सर अपनी त्वचा की भी उपेक्षा कर जाती हैं। असल में व्यस्त रूटीन में भी आपको त्वचा की उचित देखभाल के लिए समय चुराना पड़ेगा। तब ही कहीं त्वचा सुकोमल रह पाएगी।

पुदीने की ताजी पत्तियों से भाप लें। स्पाइसलिना का पावडर गुलाब जल में या पानी में मिलाकर चेहरे पर लगाएं। त्वचा को भरपूर पौष्टिकता मिलेगी। त्वचा के कसाव एवं रंग साफ होगा। जल्दी ही झुर्रियां रहित साफ और सुंदर त्वचा की आप मालकिन होंगी।
नियमित रूप से चेहरे की मालिश से भी झुर्रियां नहीं पड़ती हैं। सदैव किसी अच्छे तेल या क्रीम से मालिश करते रहने से झुर्रियां धीरे-धीरे समाप्त हो जाती हैं। मालिश से मांसपेशियां पुष्ट होती हैं।

त्वचा में कसाव आता है। ब्लड सरकुलेशन अच्छा रहता हैं किंतु मालिश हमेशा नीचे से ऊपर की ओर हल्के हाथों से करें वर्ना त्वचा ढीली हो जाती है। तनाव एवं बीमारी के पश्चात त्वचा बेजान एवं ढीली होती है।

कई बार हार्मोंस की गड़बड़ी से भी झुर्रियां पड़ती हैं। जो महिलाएं ज्यादातर धूप में रहती हैं, धूप में झुलसने से त्वचा काली पड़ती है एवं सूखने लगती है।

ऐसी महिलाएं जो पहले मोटी थीं, मोटापे से छुटकारा पाने के लिए डाइटिंग करती हैं या खाने की खुराक कम करती हैं। इससे वजन तो कम होता ही है साथ ही त्वचा भी ढीली, बेजान होकर झुर्रियां जल्दी पड़ने लगती हैं।

सौंदर्य प्रसाधनों में भी स्पाइरुलिना (काई) का काफी प्रयोग किया जाता है। इससे स्कीन को तरोताजा बनाने में काफी मदद मिलती है। इससे नए सेल बनते हैं, जिससे चेहरे की सुंदरता बढ़ जाती है। झुर्रियां दूर होती हैं, बाल घने एवं स्वस्थ व लंबे होते हैं। स्वास्थ्य ठीक रहता है, खून की कमी दूर होती है।

मोटापा दूर होता है। आंखें स्वस्थ रहती हैं। यह कोलेस्ट्रॉल नहीं जमने देता है। इसके अलावा अपने भोजन में शामिल करें हरी पत्तेदार सब्जियाँ, मौसमी फल, अंकुरित अनाज एवं पानी जो कई महिलाएं काम की व्यस्तता के कारण कम ही पीती हैं। इन सभी के अभाव में चेहरे पर झुर्रियां जल्दी पड़ती हैं।


एक चाय का चम्मच केयोलिन पाउडर, एक चाय का चम्मच आयुर्वेदिक पिंपल फेस पैक, एक-एक बूंद कैमोमिला, लेवेंडर, जूनियर पाचोली, लाइम अरोमा को एक साथ मिला लें व इस एसेन्शियल ऑयल की एक बूंद फेस मास्क में मिलाएं।

अब इसे अलोवेरा जेल के साथ मिलाकर चेहरे पर बीस मिनट लगाकर रखें व रोज दिन में दो बार उपरोक्त ऑइल की एक बूंद, एक चम्मच अलोवेरा तेल के साथ मिलाकर लगाएं।

नमक,हल्दी और मेथी का पावडर तीनों एक-एक चम्मच लीजिए। नहाने से पांच मिनट पहले पानी मिलाकर पेस्ट बना लीजिए। इसे साबुन की तरह पूरे शरीर में रगड़ कर कीजिए। फिर 5 मिनट के लिए छोड़ दीजिए। नहाने के बाद फेस पर मॉश्चराइजर लगा लीजिए। इसे हर 4 दिन के अंतराल से प्रयोग करें। त्वचा की सभी बीमारियां दूर रहेगी। त्वचा चिकनी होकर दमकने लगेगी।


और भी पढ़ें :