इस आदमी से सीखिए पैसा बचाने और प्रॉपर्टी बनाने के नुस्खे

tips for millionaires
पुनः संशोधित शुक्रवार, 23 नवंबर 2018 (11:15 IST)
- टिम मैकडोनल्ड

25 साल के क्रेग क्योरलोप रिटायरमेंट की तैयारियों में लगे हैं। बहुत थोड़े में गुजारा करने के जिस दर्शन पर वह चल रहे हैं, उसमें उनका रिटायरमेंट ज्यादा दूर नहीं लगता। उनको उम्मीद है कि 28 साल का होते-होते वे होने लायक बन जाएंगे।

क्योरलोप अमेरिका के कोलोराडो के डेनवर में रहते हैं। वह लोकप्रिय हो रहे फ़ायर (FIRE) आंदोलन के सदस्य हैं। फ़ायर (FIRE- Financial Independence, Early) का लक्ष्य है वित्तीय आज़ादी, जल्दी सेवानिवृत्ति।


इस आंदोलन के समर्थक कंजूसी की ज़िंदगी जीकर ज्यादा से ज्यादा पैसे बचाने की कोशिश करते हैं ताकि जल्दी रिटायर होने के काबिल बन सकें। क्योरलोप ने अपने लिए 28 साल की उम्र में रिटायर होने का लक्ष्य तय किया है। अपने पास सब कुछ हो लेकिन इस्तेमाल किसी चीज का न करें- यह दर्शन क्योरलोप की ज़िंदगी के हर कोने में दिखता है।

आमदनी बढ़ाओ
बढ़ाने के लिए वह इस हद तक चले गए हैं कि अपना बेडरूम भी किराए पर चढ़ा दिया है और पिछले एक साल से लिविंग रूम में सो रहे हैं। क्योरलोप पेशे में वित्तीय विश्लेषक हैं। उनको लगता है कि जिस रणनीति से वह बचत कर रहे हैं, वह 28 का होते-होते उनको इतना सक्षम बना देगा कि वे अपनी तनख़्वाह वाली नौकरी को छोड़ सकें।

बचत की शुरुआत उन्होंने रोज साइकिल से दफ़्तर जाने से की और अपनी कार किराए पर चढ़ा दी। वह कहते हैं, "मैं कार से हर महीने 400 डॉलर से 700 डॉलर कमा लेता था। आना-जाना लोगों के लिए दूसरा सबसे बड़ा खर्च है।"


क्रेग क्योरलोप की रणनीति बड़ी साफ है। "कोई संपत्ति तभी संपत्ति है जब आप उससे पैसे कमा सकें।" वह मिसाल भी देते हैं, "आप कोई घर खरीदें और उसे किराए पर चढ़ा दें। यदि किराए से होने वाली आमदनी कर्ज के ब्याज से ज्यादा है तो हर महीने 100 डॉलर, 200 डॉलर या हो सकता है कि 1000 डॉलर आपकी जेब में आने लगे।"

उनका विचार यह है कि आप संपत्ति बनाते रहें जिससे आपकी आमदनी बढ़ती रहे। यह दूसरी आमदनी इतनी हो जाए कि आपके सभी तरह के खर्चों को पूरा कर सके। जिस दिन यह लक्ष्य पूरा हो जाता है, उस दिन व्यक्ति रिटायर होने के काबिल बन जाता है।


बेडरूम भी किराए पर
क्योरलोप ने घर खरीदा और उसके चार कमरों को किराए पर चढ़ाकर अपने लिए मुनाफ़े का इंतज़ाम किया। घर का एक कमरा उन्होंने अपने साथ काम करने वाले एक व्यक्ति को किराए पर दिया है। उससे वह 700 डॉलर किराया लेते हैं। उनका दूसरा कमरा भी 700 डॉलर प्रति महीने किराए पर है। कारपेट के लिए वह 50 डॉलर अलग से लेते हैं और बदले में एक कवर वाली पार्किंग देते हैं।

क्योरलोप चार कमरों के घर से कुल मिलाकर 3100 डॉलर का किराया कमाते हैं। घर खरीदने के लिए उन्होंने जो कर्ज लिया है उसके ब्याज पर वह करीब दो हजार डॉलर देते हैं। रसोई में भी वह खुद ही काम करते हैं। उनका कहना है कि रोजमर्रा के खर्च में भी बचत के तरीके ढूंढ़ना महत्वपूर्ण है।


"आप जानते हैं कि आपकी तनख़्वाह थोड़ी बढ़ेगी। आपको बोनस मिलेगा। आप बाहर जाएंगे, उस पैसे को खर्च करेंगे। आप अपनी जीवनशैली को ऊपर उठाएंगे। मैं यह सब करने की कोशिश नहीं करता।"

उनको उम्मीद है कि अगले कुछ साल में उनके पास किराए से इतनी आमदनी होगी कि उनके लिए काम करना मज़बूरी नहीं होगी। वह कहते हैं, "आप उस स्थिति में होंगे कि आप अपनी तनख़्वाह वाली नौकरी छोड़ सकें और अपनी संपत्ति पर निर्भर रहें। हम इसे वित्तीय आज़ादी कहते हैं।"


क्योरलोप 28 साल का होने पर उस स्थिति में पहुंचना चाहते हैं। "अभी मैं 25 साल का हूं। एक महीने बाद मैं 26 का हो जाऊंगा। दो साल में मैं निश्चित रूप से वहां पहुंच जाऊंगा।"

और भी पढ़ें :