BBChindi

महिला के गुप्तांगों में मिर्ची डालने की कोशिश

-मोहित कंधारी
जम्मू में चोरी के आरोप में हिरासत में ली गई एक महिला ने थाना प्रमुख और बाक़ी पुलिसवालों पर शारीरिक प्रताड़ना के गंभीर आरोप लगाएं हैं। गीता देवी (बदला हुआ नाम) के मुताबिक़ उन्होंने के आला अधिकारियों से इस मामले की शिकायत की थी लेकिन जब कोई कार्रवाई नहीं हुई, तब उन्होंने स्थानीय अदालत का दरवाज़ा खटखटाया है।
 
अपनी शिकायत में गीता देवी ने आरोप लगाया है, "27 अप्रैल 2017 को अचानक पुलिस ने घर से उठा लिया था। हिरासत के दौरान थाना प्रमुख ने मुझे उल्टा लटका दिया और निजी अंगों में मिर्ची और बियर की बोतलें डालने की कोशिश की।" वे आरोप लगाते हुए कहती हैं, ''जब पुलिस थाने में मुझे हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही थी तो हर रोज़ थाना प्रभारी और उनकी सहयोगी मुझे और मेरे पति को प्रताड़ित करते थे।" इस मामले का संज्ञान लेते हुए केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह के कार्यालय ने राज्य सरकार से इस मामले की रिपोर्ट मांगी है।
 
चोरी का मुकदमा : मंगलवार को जम्मू के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ सुनील गुप्ता ने कहा, "एफआईआर क्रमांक 63/2107 में गीता देवी (बदला हुआ नाम) पर आरपीसी (रनबीर पीनल कोड) की धारा 454/380 के तहत घरेलू सामान और ज़ेवरों की चोरी का मुक़दमा दर्ज था, उन्हें उनकी मां के साथ गिरफ़्तार किया गया था।

गीता देवी के ख़िलाफ़ ये शिकायत उस मकान मालिक ने दर्ज करवाई थी जिनके घर गीता देवी घरेलू कामकाज करती थीं।" एसएसपी डॉ सुनील गुप्ता का कहना है कि इन आरोपों के लिए जम्मू के पुलिस अधीक्षक राहुल के निरीक्षण में एक अलग से जांच बैठाई गई है।
 
गुप्ता कहते हैं कि इस बीच गीता देवी अपने रिश्तेदारों के साथ न्यायिक मजिस्ट्रेट के पास पहुंच गईं। उन्होंने बताया कि कोर्ट के निर्देश पर उनकी मेडिकल जांच के लिए एक मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया और मेडिकल रिपोर्ट अदालत में पेश कर दी गई है।
 
एसएसपी गुप्ता ने कहा, "राज्य पुलिस ने चोरी के आरोपों की विशेष जांच के लिए एक टीम का गठन किया है। गीता देवी और उनकी मां के पास से चोरी का कुछ माल बरामद हो चुका है और चोरी के मामले की जांच अलग से कर रहे हैं।"
Widgets Magazine

और भी पढ़ें :