क्या ये नया गर्भ निरोधक साबित होगा?

पुनः संशोधित मंगलवार, 16 मई 2017 (12:13 IST)
जंगली पौधों से मिलने वाले दो रसायन गर्भनिरोध के फौरी उपायों का अच्छा विकल्प बन सकते हैं। बस एक छोटी-सी शर्त है। अगर वैज्ञानिकों को केवल इतना पता चल जाए कि बड़ी तादाद में ये कहां मिलेंगे।
डैन्डलाइन या कुकरौंधा (सिंहपर्णी) के पौधे की जड़ और 'थंडर गॉड वाइन' के पौधे पारंपरिक दवाओं में लंबे समय से इस्तेमाल किए जाते रहे हैं। अब कैलिफ़ोर्निया के वैज्ञानिकों ने ये पाया है कि ये पौधे प्रजनन की प्रक्रिया को भी रोक सकते हैं।

रिसर्च रिपोर्ट : इस पर एक ब्रितानी शुक्राणु विशेषज्ञ का कहना है कि ये खोज पुरुष गर्भनिरोधकों की दिशा में नया मोड़ साबित हो सकती है।
हालांकि कैलिफ़ोर्निया में इस पर काम कर रही रिसर्च टीम ने बताया कि पौधे में इस रसायन की इतनी कम मात्रा मौजूद रहती है कि इसे पौधे से निचोड़कर अलग करना बेहद ख़र्चीला होगा। टेस्ट में ये देखा गया कि प्रिस्टिमेरिन और लुपेओल ने शुक्राणु को अंडाणु तक पहुंचने से रोक दिया।

नेशनल एकैडमी ऑफ़ साइंसेज़ के जर्नल 'प्रोसीडिंग्स' में छपी रिसर्च रिपोर्ट में कहा गया है, "ये केमिकल्स एक तरह से 'मॉलिक्यूलर कॉन्डम' की तरह काम कर रहे थे।"
पारंपरिक दवाएं : दूसरे शब्दों में कहें तो ये केमिकल्स शुक्राणु को नुकसान पहुंचाए बगैर प्रोजेस्टेरॉन हॉर्मोन को रोकने में कामयाब थे। इसी हार्मोन की वजह से शुक्राणु तैरते हैं।

लुपेओल केमिकल आम, डैन्डलाअन या कुकरौंधा (सिंहपर्णी) के पौधे की जड़ और ऐलो वेरा के पौधों में पाया जाता है। जबकि प्रिस्टिमेरिन ट्रिप्टेरीजिअम विलफ़ोर्डी प्लांट (थंडर गॉड वाइन) से निकाला जाता है। पारंपरिक चीनी दवाओं में इसका इस्तेमाल किया जाता है।
शोधकर्ताओं ने पाया कि ये केमिकल्स कम ख़ुराक पर ही असरदार हैं और दूसरे हॉर्मोन आधारित गर्भनिरोधकों के विपरीत इनका कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं है।
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

भारत में इंसानी मल को ढोते हजारों लोग

भारत में इंसानी मल को ढोते हजारों लोग
भारत में 21वीं सदी में भी ऐसे लोग मौजूद हैं जो इंसानी मल को उठाने और सिर पर ढोने को मजबूर ...

क्या होगा जब कंप्यूटर का दिमाग पागल हो जाए

क्या होगा जब कंप्यूटर का दिमाग पागल हो जाए
क्या होगा अगर कंप्यूटर और मशीनों को चलाने वाले दिमाग यानी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पागल हो ...

चंद हज़ार रुपयों से अरबपति बनने वाली केंड्रा की कहानी

चंद हज़ार रुपयों से अरबपति बनने वाली केंड्रा की कहानी
गर्भ के आख़िरी दिनों में केंड्रा स्कॉट को आराम के लिए कहा गया था। उसी वक़्त उन्हें इस ...

सिंगापुर डायरी: ट्रंप-किम की मुलाकात की जगह बसता है 'मिनी ...

सिंगापुर डायरी: ट्रंप-किम की मुलाकात की जगह बसता है 'मिनी इंडिया'
सिंगापुर का "लिटिल इंडिया" दो किलोमीटर के इलाक़े में बसा एक मिनी भारत है। ये विदेश में ...

जर्मन बच्चे कितने पढ़ाकू, कितने बिंदास

जर्मन बच्चे कितने पढ़ाकू, कितने बिंदास
जर्मनी में एक साल के भीतर कितने बच्चे होते हैं, या बच्चों को कितनी पॉकेट मनी मिलती है, या ...

fifa world cup 2018 : मैसी और अर्जेन्टीना के लिए बुरी खबर, ...

fifa world cup 2018 : मैसी और अर्जेन्टीना के लिए बुरी खबर, रोटेशन करेगा क्रोएशिया
रोशिनो। लियोनेल मैसी और अर्जेन्टीना की टीम का विश्व कप में भविष्य अधर में लटका हुआ है और ...

मानसून अपडेट, भीषण गर्मी से मिलेगी राहत, इन राज्यों में ...

मानसून अपडेट, भीषण गर्मी से मिलेगी राहत, इन राज्यों में होगी बारिश
नई दिल्ली। मौसम विभाग के डेटा से खुलासा हुआ है कि देश के 25 प्रतिशत से कम हिस्से में अब ...

विश्व कप इतिहास में इंग्लैंड की पनामा पर 6-1 से सबसे बड़ी ...

विश्व कप इतिहास में इंग्लैंड की पनामा पर 6-1 से सबसे बड़ी जीत, कप्तान हैरी केन की हैट्रिक
नोवगोरोद। फीफा विश्व कप फुटबॉल में खिताब की दावेदारों में से एक इंग्लैंड ने आज ग्रुप 'जी' ...