शराब छोड़ने पर आपके शरीर में क्या होता है

पुनः संशोधित शुक्रवार, 12 जनवरी 2018 (12:34 IST)
नए साल में बहुत सारे लोग अपनी सेहत का ख़्याल रखने की ठानते हैं। बहुत से ऐसे भी हैं जो सोचते हैं कि 'अब बस, छोड़ देंगे।' इसका सीधा फायदा जेब के साथ साथ सेहत को भी होता है। की सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा एनएचएस के मुताबिक़, शराब घटाने पर आपको अपने शरीर में ये बदलाव दिखने लगेंगे:
*सुबह उठने पर बेहतर महसूस होगा
*दिन में कम थकान होगी
*ज़्यादा फ़िट महसूस करेंगे
*वज़न कम होने लगेगा या बढ़ना बंद हो जाएगा

ये बदलाव आपको तुरंत ही महसूस होने शुरू हो जाएंगे। अगर आप लगातार शराब घटाते रहें या छोड़ दें तो आपको शरीर में लंबे समय तक रहने वाले ये चार बदलाव नज़र आएंगे।

नींद बेहतर आने लगेगी
हालांकि शराब पीने के बाद बड़ी जल्दी नींद आ जाती है लेकिन यह गहरी नींद नहीं होती।
2013 में विज्ञान के एक जर्नल 'अल्कोहोलिज़्म' में नींद पर शराब के असर से जुड़ी एक रिपोर्ट छपी जिसमें बताया गया कि किसी भी मात्रा में शराब पीने से नींद तो तुरंत आ जाती है, नींद के पहले चरण में गहरी नींद भी आती है लेकिन दूसरे चरण में नींद बार-बार टूटती है।

एनएचएस के मुताबिक, शराब का सेवन घटाने पर आप सुबह ज़्यादा तरोताज़ा महसूस करते हुए उठेंगे।

बीमारियों से लड़ने की बेहतर क्षमता
बहुत ज़्यादा शराब पीने से रोग प्रतिरोधक क्षमता घट जाती है जिससे कई तरह की बीमारियां होने का ख़तरा बढ़ जाता है। एनएचएस के मुताबिक़ जो लोग बहुत शराब पीते हैं उन्हें संक्रामक बीमारियां जल्दी पकड़ लेती हैं।
ऐसा होता है क्योंकि ज़्यादा शराब साइटोकिन बनने में रुकावट डालती है। साइटोकिन वे तत्व हैं जो शरीर की इंफ़ेक्शन से लड़ने की ताक़त में अहम भूमिका निभाते हैं।

अमेरिका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ अल्कोहल एब्यूज़ एंड एल्कोहोलिज़्म की एक रिपोर्ट कहती है कि शराब पीने के 24 घंटे बाद तक शरीर में साइटोकिन का निर्माण धीमा रहता है।

बेहतर मूड
एनएचएस के मुताबिक़ शराब और अवसाद में गहरा रिश्ता है। हैंगओवर से भी लोगों का मूड अक़सर ख़राब हो जाता है और उन्हें बेचैनी महसूस होती है। अगर आप पहले से ही निराश या दुखी हैं तो शराब इन भावनाओं को और बढ़ा सकती है। एनएचएस के मुताबिक़ शराब की मात्रा घटाने से आपका मूड बेहतर हो सकता है।
त्वचा बेहतर हो जाएगी
बहुत से लोगों को शराब छोड़ते ही अपनी त्वचा में बदलाव नज़र आने लगता है। अमरीका के एसोसिएशन ऑफ़ डर्माटॉलॉजी के मुताबिक़ शराब त्वचा के लिए बुरी है। यह त्वचा को सुखाती है और धीरे-धीरे बर्बाद कर देती है जिससे शराब पीने वाला व्यक्ति अपनी उम्र से बड़ा नज़र आने लगता है।

कितनी शराब यानी बहुत ज़्यादा शराब?
ब्रिटेन की सार्वजनिक स्वास्थ्य एजेंसी का कहना है कि एक हफ़्ते में किसी भी महिला या पुरुष को 14 'यूनिट' से ज़्यादा शराब नहीं पीनी चाहिए। वहां की सरकार दस मिलीमीटर अमिश्रित शराब को एक 'यूनिट' मानती है। इसका मतलब है कि ब्रिटेन के लोगों को एक हफ़्ते में ज़्यादा से ज़्यादा दस छोटे गिलास पीने की सलाह दी जाती है।
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

भारत में इंसानी मल को ढोते हजारों लोग

भारत में इंसानी मल को ढोते हजारों लोग
भारत में 21वीं सदी में भी ऐसे लोग मौजूद हैं जो इंसानी मल को उठाने और सिर पर ढोने को मजबूर ...

क्या होगा जब कंप्यूटर का दिमाग पागल हो जाए

क्या होगा जब कंप्यूटर का दिमाग पागल हो जाए
क्या होगा अगर कंप्यूटर और मशीनों को चलाने वाले दिमाग यानी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पागल हो ...

चंद हज़ार रुपयों से अरबपति बनने वाली केंड्रा की कहानी

चंद हज़ार रुपयों से अरबपति बनने वाली केंड्रा की कहानी
गर्भ के आख़िरी दिनों में केंड्रा स्कॉट को आराम के लिए कहा गया था। उसी वक़्त उन्हें इस ...

सिंगापुर डायरी: ट्रंप-किम की मुलाकात की जगह बसता है 'मिनी ...

सिंगापुर डायरी: ट्रंप-किम की मुलाकात की जगह बसता है 'मिनी इंडिया'
सिंगापुर का "लिटिल इंडिया" दो किलोमीटर के इलाक़े में बसा एक मिनी भारत है। ये विदेश में ...

जर्मन बच्चे कितने पढ़ाकू, कितने बिंदास

जर्मन बच्चे कितने पढ़ाकू, कितने बिंदास
जर्मनी में एक साल के भीतर कितने बच्चे होते हैं, या बच्चों को कितनी पॉकेट मनी मिलती है, या ...

इंडोनेशिया में फिदायीन हमला, मौलाना को मौत की सजा

इंडोनेशिया में फिदायीन हमला, मौलाना को मौत की सजा
जकार्ता। इंडोनिशया के स्टार बक्स कैफे में हुए फिदायीन हमले की साजिश रचने के मामले में ...

अनंतनाग में मुठभेड़, दो आतंकी ढेर, एक जवान शहीद

अनंतनाग में मुठभेड़, दो आतंकी ढेर, एक जवान शहीद
श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में शुक्रवार को सुरक्षाबलों ने एक मुठभेड़ में दो ...

कर्नाटक के मंत्री के लिए ‘इनोवा’ उपयुक्त कार नहीं, ...

कर्नाटक के मंत्री के लिए ‘इनोवा’ उपयुक्त कार नहीं, ‘फॉरच्यूनर’ चाहते हैं
बेंगलुरू। कर्नाटक के एक मंत्री ने एक कहकर विवाद पैदा कर दिया कि उन्होंने सरकारी इस्तेमाल ...