गेम चेंजर होगी मारुति सियाज, देगी सबसे अधिक माइलेज

संदीपसिंह सिसोदिया| Last Updated: बुधवार, 1 अक्टूबर 2014 (18:38 IST)
मारुति सुजुकी भारत का सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी है। लेकिन अब भी प्रीमियम सिडान सेगमेंट में इसकी बहुत ज्यादा हिस्सेदारी नहीं है। ह्युंडे, फोर्ड और होंडा ने इस सेगमेंट में मारुति को काफी पीछे छोड़ रखा है। मारुति एसएक्स 4 कई खूबियों के बावजूद ग्राहकों को लुभाने में नाकामयाब रही। इसी बार को ध्यान में रखते हुए मारुति सुजुकी ने अपनी प्रीमियम कार सियाज़ को भारतीय सड़कों पर उतारा है। 
 
एक बड़ी, लग्ज़री और शानदार लुक्स से लैस इस कार से मारुति अपने प्रतिद्वन्दियों को प्रीमियम सेगमेंट में तगड़ी टक्कर देने का मन बना चुकी है। इस मॉडल को बनाने के लिए मारुति ने पिछले 6 महीनों में 600 करोड़ का निवेश किया है। इस लिहाज से को मारुति सुजुकी के लिए गेम चेंजर माना जा रहा है। तो आइए जानते हैं कि क्या खास है मारुति सुजुकी की इस नई कार में...
इस कार की पहली झलक नई दिल्ली में अंतरराष्ट्रीय ऑटो एक्स्पो में देखने को मिली थी और तब इसे कॉंसेप्ट कार बताया गया था। लेकिन दर्शकों और प्रतिभागियों की इस मॉडल में दिलचस्पी को देख इसमें भारतीय बाजार के हिसाब से कई बदलाव किए गए। 
 
इंजिन और पॉवर : सियाज के पेट्रोल वेरिएंट में 1.4 लीटर K-Serie1400 सीसी पेट्रोल इंजिन फिट है और डीज़ल वेरिएंट में 1.3 लीटर मल्टीजेट 1300 सीसी DDiS इंजिन (फिएट के सहयोग से बना) लगा है। जी हां, इसमें वही इंजिन है को एर्टिगा, स्विफ्ट और डिजायर में इस्तेमाल किया जा रहा है। यदि इस इंजिन के पिछले रिकॉर्ड को देखें तो यह अब तक के सबसे सफल डीजल इंजिन में से एक है। 

कितना देती है? मारुति सुजुकी का दावा है कि सियाज़ अपनी श्रेणी में देश की सबसे अधिक माइलेज देने वाली कार होगी। कंपनी का दावा है कि डीजल वेरिएंट एक लीटर में 26.1 किमी का माइलेज देगी। वहीं पेट्रोल इंजन वाली कार 20.73 किमी प्रति लीटर की माइलेज देगी।>  
और क्या है खास, क्यों है सियाज़ ह्युंडे वर्ना और होंडा सिटी पर भारी जानिए अगले पन्ने पर..>  
वेबदुनिया हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।  
 

 

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :