वैगन-आर का सीएनजी मॉडल जल्द ही

नई दिल्ली| भाषा| पुनः संशोधित शनिवार, 19 जून 2010 (18:06 IST)
देश की सबसे बड़ी कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया अपनी हैचबैक वैगन-आर का सीएनजी संस्करण उतारने की योजना बना रही है। कंपनी का अगले तीन माह में का सीएनजी संस्करण उतारने की योजना है। सीएनजी वैगन-आर का दाम वर्तमान में बाजार में मौजूद मॉडल से 70000 रुपए ज्यादा होगा।

एक सूत्र ने कहा, ‘मारुति विभिन्न वर्ग में कम से कम सीएनजी के पाँच मॉडल उतारने की दिशा में काम कर रही है। अगली एक तिमाही के दौरान ये मॉडल पेश किए जा सकते हैं। सीएनजी के ये मॉडल पेट्रोल से भी चलेंगे।’

उद्योग सूत्रों का कहना है कि कंपनी अपने पर्यावरणनुकूल वाहनों के पोर्टफोलियो का विस्तार करने की रणनीति पर काम कर रही है। अल्टो, ईको, एस्टिलो और एसएक्स4 को भी सीएनजी में उतारा जा सकता है।
सूत्र ने बताया कि इन मॉडलों में से सबसे पहले वैगन आर का सीएनजी संस्करण पेश किया जाएगा।

संपर्क किए जाने पर मारुति के प्रबंध कार्यकारी अधिकारी (इंजीनियरिंग) आई.वी. राव ने कहा कि हम पिछले दो साल से सीएनजी प्रौद्योगिकी पर काम कर रहे हैं और अब यह लगभग तैयार है। हमने इस साल दिल्ली ऑटो एक्सपो में इसे प्रदर्शित किया था। हालाँकि, उन्होंने कंपनी द्वारा सीएनजी माडल पेश करने के बारे में कुछ नहीं कहा।
यह पूछे जाने पर कि सीएनजी मॉडलों की कीमत क्या होगी, राव ने कहा कि ये उत्पाद उच्च गुणवत्ता वाले होंगे। सुरक्षा मानकों पर कोई समझौता नहीं किया जाएगा। ज्यादातर कलपुर्जे यूरोप, अमेरिका और जापान से आयात किए गए हैं। इनकी कुछ कीमत तो होगी ही।

सूत्रों का कहना है कि मारुति द्वारा अपने वाहनों में जो सीएनजी किट लगाई जाएगी, उस हिसाब से इन मॉडलों के दाम 70000 रुपए तक ज्यादा हो सकते हैं। अप्रैल में कंपनी ने नई पीढ़ी की वैगन-आर पेश की थी। इस कार का दाम 3.28 लाख रुपए से 3.81 लाख रुपए के बीच था।
कंपनी के एम. 800 तथा ओमनी मॉडलों में ड्यूल फ्यूल प्रौद्योगिकी मौजूद है। ये माडल पेट्रोल और एलपीजी के साथ दौड़ सकते हैं। पूर्व में वैगन-आर का भी एलपीजी संस्करण मौजूद था, पर नई वैगन आर पेश करने के बाद कंपनी ने इसका उत्पादन बंद कर दिया था।

इससे पहले इसी साल कंपनी के चेयरमैन आर.सी. भार्गव ने कहा था कि कंपनी 2010 से अपने सभी मॉडलों के सीएनजी संस्करण पेश करना शुरू करेगी। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :