कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी पर पढ़ें श्री हनुमान के चमत्कारी 9 मंत्र


* हनुमान चालीसा की हर है चमत्कारी 9 मंत्र 
- उमेश दीक्षित 
 
 
पौराणिक ग्रंथों के हिसाब से चैत्र शुक्ल पूर्णिमा तथा कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी यह दोनों ही श्री हनुमान जन्मोत्सव के रूप में मनाए जाते हैं। हनुमान चालीसा की हर चौपाई ही मंत्र है। इनका जप कर अपनी समस्या का निवारण किया जा सकता है। रुद्राक्ष की माला पर हर मंत्र श्रद्धानुसार जपें।
 
(1) कुबुद्धि निवारण के लिए -
 
'महाबीर बिक्रम बजरंगी।
कुमति निवार सुमति के संगी।।'>  
(2) बल-बुद्धि-ज्ञान तथा विद्या प्राप्त करने हेतु-
 
'बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरौं पवन-कुमार।
बल बुद्धि बिद्या देहु मोहिं, हरहु कलेस बिकार।।'
 
(3) स्वास्थ्य लाभ, रोग तथा दर्द दूर करने के लिए-
 
'नासै रोग हरै सब पीरा।
जपत निरंतर हनुमत बीरा।।'
 
(4) कठिन एवं असाध्य रोग से मुक्ति के लिए-
 
'राम रसायन तुम्हरे पासा। सदा रहो रघुपति के दासा।।
लाय सजीवन लखन जियाये। श्रीरघुबीर हरषि उर लाये।।'
 
 

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine

और भी पढ़ें :