इच्छित वर प्राप्ति के लिए कन्याएं ऐसे करें सोमवार व्रत, होगी मनोकामना पूर्ण...



* व्रत पूजा-विधि, जानिए 8 विशेष बातें...

सभी को करना चाहिए। यह व्रत भगवान शिव और उनके परिवार की कृपा पाने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। माना जाता है कि लगातार करने से समस्त इच्छाएं पूर्ण होती हैं।

यह व्रत भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए किया जाता है। विशेषकर अविवाहित लड़कियां अपनी इच्छा का वर पाने के लिए 16 सोमवार का व्रत रखती हैं। सोमवार का व्रत रखने की विधि इस प्रकार है -
* पौराणिक ग्रंथों में सोमवार के व्रत की विधि का वर्णन करते हुए बताया गया है कि इस दिन व्यक्ति को प्रात: स्नान कर भगवान शिव को जल चढ़ाना चाहिए और भगवान शिव के साथ माता पार्वती की पूजा भी करनी चाहिए।
* पूजा के बाद सोमवार व्रत की कथा को सुनना चाहिए।

* व्रती को दिन में केवल एक समय ही भोजन करना चाहिए।

* आमतौर पर सोमवार का व्रत तीसरे पहर तक होता है यानी कि शाम तक ही सोमवार का व्रत रखा जाता है।

* सोमवार का व्रत प्रति सोमवार भी रखा जाता है, सौम्य प्रदोष व्रत और 16 सोमवार व्रत भी रखे जाते हैं।

* सोमवार के सभी व्रतों की विधि एक समान ही होती है।
* मान्यता है कि चित्रा नक्षत्रयुक्त सोमवार से आरंभ कर 7 सोमवार तक व्रत करने पर व्यक्ति को सभी तरह के सुख प्राप्त होते हैं।

* इसके अलावा 16 सोमवार का व्रत मनोवांछित वर प्राप्ति के लिए किया जाता है। अविवाहित कन्याओं के लिए यह खास मायने रखता है।


Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

राशिफल

अतिथि देवो भव:, जानिए अतिथि को देवता क्यों मानते हैं?

अतिथि देवो भव:, जानिए अतिथि को देवता क्यों मानते हैं?
अतिथि कौन? वेदों में कहा गया है कि अतिथि देवो भव: अर्थात अतिथि देवतास्वरूप होता है। अतिथि ...

यह रोग हो सकता है आपको, जानिए 12 राशि अनुसार

यह रोग हो सकता है आपको, जानिए 12 राशि अनुसार
12 राशियां स्वभावत: जिन-जिन रोगों को उत्पन्न करती हैं, वे इस प्रकार हैं-

वास्तु : खुशियों के लिए जरूरी हैं यह 10 काम की बातें

वास्तु : खुशियों के लिए जरूरी हैं यह 10 काम की बातें
रोजमर्रा में हम ऐसी गलतियां करते हैं जो वास्तु के अनुसार सही नहीं होती। आइए जानते हैं कुछ ...

कैसे करें गर्भाधान संस्कार, पढ़ें ज्योतिषीय जानकारी...

कैसे करें गर्भाधान संस्कार, पढ़ें ज्योतिषीय जानकारी...
श्रेष्ठ संतान के जन्म के लिए आवश्यक है कि 'गर्भाधान' संस्कार श्रेष्ठ मुहूर्त में किया ...

शुक्र आया अपनी राशि में, क्या होगा 12 राशियों के जीवन पर

शुक्र आया अपनी राशि में, क्या होगा 12 राशियों के जीवन पर असर
कला, धन, सौन्दर्य के कारक ग्रह शुक्र ने 20 अप्रैल, शुक्रवार को सुबह 2 बजे वृषभ राशि में ...

ऐसे मनाएं श्री नृसिंह जयंती-उत्सव, पाएं शक्ति और पराक्रम

ऐसे मनाएं श्री नृसिंह जयंती-उत्सव, पाएं शक्ति और पराक्रम
भगवान श्री नृसिंह शक्ति तथा पराक्रम के प्रमुख देवता हैं। वैशाख महीने के शुक्ल पक्ष की ...

नृसिंह जयंती 28 अप्रैल को, जानिए क्या करें इस दिन

नृसिंह जयंती 28 अप्रैल को, जानिए क्या करें इस दिन
भक्त प्रह्लाद की रक्षा करने के लिए भगवान विष्णु ने नृसिंह रूप में अवतार धारण किया था। इसी ...

इंदौर का चमत्कारी प्राचीन नृसिंह मंदिर, पढ़ें पौराणिक तथ्य

इंदौर का चमत्कारी प्राचीन नृसिंह मंदिर, पढ़ें पौराणिक तथ्य
नृसिंह मंदिर उस जमाने में सरकारी लश्करी मंदिर के नाम से मशहूर था। यूं इस मंदिर की स्थापना ...

26 अप्रैल 2018 का राशिफल और उपाय...

26 अप्रैल 2018 का राशिफल और उपाय...
रचनात्मक कार्य सफल रहेंगे। किसी आनंदोत्सव का आनंद मिलेगा। धन प्राप्ति सुगम होगी। शारीरिक ...

26 अप्रैल 2018 : आपका जन्मदिन

26 अप्रैल 2018 : आपका जन्मदिन
दिनांक 26 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 8 होगा। यह ग्रह सूर्यपुत्र शनि से संचालित होता है। ...