शिवरात्रि 2018 : इस दिन खास मुहूर्त में करें पूजन, मिलेंगे 10 पुण्य लाभ


महाशिवरात्रि भारत के प्रमुख पर्वों में से एक है जिसे भारत में बड़े उत्साह और प्रसन्नता के साथ मनाया जाता है। यह पर्व देवों के देवों महादेव को समर्पित है। जिसके पीछे मुख्यतः दो मान्यताएं हैं। 1. सृष्टि का प्रारंभ इसी दिन से हुआ था। 2. इस दिन भगवान शिव का विवाह माता पार्वती से हुआ था।
वर्ष भर में 12 शिवरात्रियां आती है लेकिन इन सभी में फाल्गुन माह की शिवरात्रि को सबसे प्रमुख और महत्वपूर्ण माना जाता है। महिलाएं और लड़कियां इस व्रत को विशेष कामना से रखती हैं। इस व्रत के प्रभाव से कुंवारी लड़कियों को मनचाहा वर प्राप्त होता है और जिन महिलाओं का विवाह हो चुका है वे सौभाग्यशालिनी बनी रहती हैं।

वर्ष 2018 में 13 फरवरी 2018, मंगलवार और 14 फरवरी 2018, बुधवार को दोनों दिन मनाया जा रहा है।

इस दिन शिवरात्रि निशिथ काल पूजा का समय 24:09+ से 25:01+ तक होगा।
मुहूर्त की अवधि कुल 51 मिनट की है।

14 तारीख को महाशिवरात्रि पारण का समय 07:04 से 15:20 तक होगा।

रात्रि पहले प्रहर पूजा का समय = 18:05 से 21:20
रात दूसरे प्रहर में पूजा का समय = 21:20 से 24:35+
रात्रि तीसरे प्रहर पूजा का समय = 24:35+ से 27:49+
रात्रि चौथे प्रहर पूजा का समय = 27:49+ से 31:04+

चतुर्दशी तिथि 13 फरवरी 2018, मंगवलार 22:36 से प्रारंभ होगी जो 15 फरवरी 2018, 00:48 बजे खत्म होगी।
10 पुण्य लाभ

1. अविवाहितों की शीघ्र शादी होती है।
2. सुहागिनों का सौभाग्य अखंड रहता है।
3. दांपत्य जीवन में प्रेम की प्रगाढ़ता और सामंजस्य बना रहता है।
4. संतान सुख मिलता है।
5. धन, धान्य, यश, सुख, समृद्धि, वैभव, ऐश्वर्य में वृद्धि होती है।
6. आरोग्य का वरदान मिलता है।
7. नौकरी व करियर में मनचाही सफलता मिलती है।
8. शत्रुओं का विनाश होता है।
9. बाहरी भूत, प्रेत बाधा आदि से चमत्कारी ढंग से रक्षा होती है। क्योंकि भगवान शिव स्वयं उनके स्वामी हैं।
10. इस व्रत से आत्मविश्वास और पराक्रम में वृद्धि होती है। आभामंडल में चमत्कारी चमक आती है।


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :