गुरु-पुष्य नक्षत्र 7 दिसंबर को, राशिनुसार करें यह शुभ खरीदी


गुरु-पुष्य अत्यंत ही शुभ मुहूर्त माना जाता है। इस दिन खरीदी गई वस्तु के साथ लक्ष्मी, सुख, सौभाग्य, समृद्धि और हर्ष लेकर आती है। इस पवित्र संयोग को विष्णु-लक्ष्मी का विशेष आशीर्वाद प्राप्त है। इस योग में सारा दिन मंगलकारी रहता है लेकिन फिर भी शुभ मुहूर्त देखकर ही वस्तुएं खरीदी जाए तो अत्यंत शुभ फल की प्राप्ति होती है।

गुरुवार,7 दिसंबर 2017 को गजकेशरी व का अमृत योग है। इस मुहूर्त में खरीदा क्या जाए? प्रस्तुत है, राशियों के अनुसार विशेष जानकारी :

मेष : इस राशि का स्वामी मंगल है। यह पराक्रम का कारक है। इस राशि वालों को अपने लिए रत्न मूंगा खरीदना शुभ रहता है। मेष राशि वाले लाल रत्नों के गहने भी खरीद सकते हैं। सामर्थ्य अनुसार लाल रंग की वस्तुएं भी खरीदी जा सकती है। गुरु के शुभ संयोग के कारण साथ में पीले फूल अवश्य खरीदें और नृसिंह भगवान को चढ़ाएं।

वृषभ : इस राशि का स्वामी शुक्र है। यह सौन्दर्य, प्रेम और गुप्त भावनाओं का कारक है। अत: इस राशि वालों को शुभ मुहूर्त में हीरा अवश्य खरीदना चाहिए। हीरा खरीदने के साथ ही धारण भी इसी दिन करें। अगर हीरा (डायमंड) खरीदने की क्षमता नहीं हो तो चमकते सफेद रंग, सिल्वर कलर के परिधान खरीदना अत्यंत मंगलकारी होगा। गुरु के शुभ संयोग के कारण साथ में मौसमी पीले फल खरीदें और जिस हाथ में हीरा धारण किया है उस हाथ से गुरु को भेंट करें।

मिथुन : इस राशि का स्वामी बुध है। यह वाणी का कारक है। इस राशि वालों को इस दिन शैक्षणिक सामग्री खरीदना चाहिए। क्षमता हो तो पन्ना रत्न खरीद कर धारण करें। अगर नहीं खरीद सकते हैं तो हरे रंग से मुद्रित दुर्गा चालीसा के 5 छोटे संस्करणों का देवी मंदिर में वितरण करें। गुरु के शुभ संयोग की वजह से पीली ध्वजा सजाकर मंदिर में अर्पित करें।

कर्क : इस राशि का स्वामी चन्द्र है। यह मन का कारक है। इस राशि वालों को मोती के आभूषण अवश्य खरीदना चाहिए। हो सके तो सफेद फूल शिव मंदिर में चढ़ाएं। इस दिन घर के किसी बुजुर्ग को सफेद रंग की मिठाई खिलाएं। वाहन खरीदना हो तो कर्क राशि वालों के लिए इससे बेहतर कोई मुहूर्त नहीं है। गुरु के शुभ संयोग में पीले रंग का एक रूमाल खरीदना भी लाभकारी होगा।

सिंह : इस राशि का स्वामी सूर्य है। यह आत्मा का कारक है। इस राशि वालों को स्वर्णाभूषण अवश्य खरीदना चाहिए। हो सके तो प्रात: 6 बजकर 21 मिनट के बाद सूर्य को मिश्री व कुंकू मिलाकर जल चढ़ाएं। इस दिन मंगल मुहूर्त में इलेक्ट्रॉनिक उपकरण खरीद सकते हैं। विशेषकर फ्रिज या माइक्रोवेव। युवा वर्ग मोबाइल हैंडसेट बदलने पर विचार कर सकते हैं। गुरु के शुभ संयोग में संतरा खरीद कर गरीब बस्तियों में बांटना अत्यंत प्रगतिकारक रहेगा।

कन्या : ( इस राशि का फल मिथुन राशि के अनुसार देखें) इस राशि का स्वामी बुध है। यह वाणी का कारक है। इस राशि वालों को इस दिन शैक्षणिक सामग्री खरीदना चाहिए। क्षमता हो तो पन्ना रत्न खरीद कर धारण करें। अगर नहीं खरीद सकते हैं तो हरे रंग से मुद्रित दुर्गा चालीसा के पांच छोटे संस्करणों का देवी मंदिर में वितरण करें। गुरु के शुभ संयोग की वजह से पीली ध्वजा सजाकर मंदिर में अर्पित करें।

तुला : (इस राशि का फल वृषभ राशि के अनुसार देखें) इस राशि का स्वामी शुक्र है। यह सौन्दर्य, प्रेम और गुप्त भावनाओं का कारक है। अत: इस राशि वालों को शुभ मुहूर्त में हीरा अवश्य खरीदना चाहिए। हीरा खरीदने के साथ ही धारण भी इसी दिन करें। अगर हीरा (डायमंड) खरीदने की क्षमता नहीं हो तो चमकते सफेद रंग, सिल्वर कलर के परिधान खरीदना अत्यंत मंगलकारी होगा। गुरु के शुभ संयोग के कारण साथ में मौसमी पीले फल खरीदें और जिस हाथ में हीरा धारण किया है उस हाथ से गुरु को भेंट करें।

वृश्चिक : (इस राशि का फल मेष राशि के अनुसार देखें) इस राशि का स्वामी मंगल है। यह पराक्रम का कारक है। इस राशि वालों को अपने लिए रत्न मूंगा खरीदना शुभ रहता है। मेष राशि वाले लाल रत्नों के गहने भी खरीद सकते हैं। सामर्थ्य अनुसार लाल रंग की वस्तुएं भी खरीदी जा सकती है। गुरु के शुभ संयोग के कारण साथ में पीले फूल अवश्य खरीदें और नृसिंह भगवान को चढ़ाएं।

धनु : इस राशि का स्वामी गुरु है। यह जीवन में शुभ कार्यों का कारक है। यह व्यक्तित्व में गंभीरता प्रदान करता है। इस राशि वालों को इस दिन पीले वस्त्र ही धारण करने चाहिए। पुखराज रत्न खरीदना चाहिए। हो सके तो आटे में हल्दी मिलाकर दीपक बनाएं और हनुमान मंदिर में जलाएं। मंदिर ना हो तो पीपल के पेड़ को बिना स्पर्श किए दीपक रखें। जीवन की बाधाएं दूर होगी। इस दिन सोना, पीले परिधान, पीले फूल, पीले फल तथा पीली मिठाई खरीदें। गुरु के शुभ संयोग में केसर का तिलक लगाएं तथा जुबान पर शुभ मुहूर्त में केसर रखें।

मकर : इस राशि का स्वामी शनि है। इस राशि वालों को तेल की बनी वस्तु, मोटरबाइक, कार, रेफ्रिजरेटर, कूलर, एसी तथा मोबाइल जैसी हर इलेक्ट्रॉनिक वस्तुएं खरीदना मंगलकारी रहेगा। इस दिन हनुमान मंदिर में सिंदूर का चोला चढ़वाना विशेष फलदायक रहेगा। गुरु के शुभ संयोग के कारण मकर राशि वाले अपने गुरु को श्रीफल तथा पीले फूल भेंट करें। हो सके तो वृद्धाश्रम में पीले फल दान करें।
कुंभ : अगर क्षमता हो तो इस राशि वालों को शहर में प्याऊ खुलवाना चाहिए। यह आने वाले समय के लिए अत्यंत शुभ फलदायी रहेगा। अगर यह क्षमता नहीं हो तो मिट्टी के मटके, सुराही या पानी रखने के अन्य पात्र खरीद कर दान देना चाहिए। पक्षियों के लिए सकोरे लगवाना, पक्षियों को पीला अनाज चुगवाना भी फलदायक रहेगा। नीलम रत्न खरीदना शुभ होगा लेकिन नीलम संभव नहीं हो तो ब्लू टोपाज अवश्य खरीदें।
मीन : (इस राशि का फल धनु राशि के अनुसार देखें) इस राशि का स्वामी गुरु है। यह जीवन में शुभ कार्यों का कारक है। यह व्यक्तित्व में गंभीरता प्रदान करता है। इस राशि वालों को इस दिन पीले वस्त्र ही धारण करने चाहिए। पुखराज रत्न खरीदना चाहिए। हो सके तो आटे में हल्दी मिलाकर दीपक बनाएं और हनुमान मंदिर में जलाएं। मंदिर ना हो तो पीपल के पेड़ को बिना स्पर्श किए दीपक रखें। जीवन की बाधाएं दूर होगी। इस दिन सोना, पीले परिधान, पीले फूल, पीले फल तथा पीली मिठाई खरीदें। गुरु के शुभ संयोग में केसर का तिलक लगाएं तथा जुबान पर शुभ मुहूर्त में केसर रखें।

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

राशिफल

राहुकाल का समय और उससे बचने के उपाय

राहुकाल का समय और उससे बचने के उपाय
राहुकाल स्थान और तिथि के अनुसार अलग-अलग होता है अर्थात प्रत्येक वार को अलग समय में शुरू ...

वास्तु-फेंगशुई : स्टडी टेबल ऐसी होगी तो मिलेगी मनचाही सफलता

वास्तु-फेंगशुई : स्टडी टेबल ऐसी होगी तो मिलेगी मनचाही सफलता
क्या आपने स्टडी टेबल पर ध्यान दिया है। वह सुविधाजनक तो है लेकिन क्या वास्तु अनुरूप भी ...

वृषभ राशि में आए सूर्य, किस राशि के लिए शुभ, किसके लिए अशुभ

वृषभ राशि में आए सूर्य, किस राशि के लिए शुभ, किसके लिए अशुभ
मंगलवार, 15 मई 2018 को वृषभ राशि में सूर्य ने प्रवेश कर लिया है। आइए जानें किस राशि के ...

इन रत्नों से मिलेगा ग्रहों का शुभ प्रभाव, आप भी जानिए...

इन रत्नों से मिलेगा ग्रहों का शुभ प्रभाव, आप भी जानिए...
सूर्य को शक्तिशाली बनाने के लिए 3 रत्ती के माणिक को स्वर्ण की अंगूठी में, अनामिका अंगुली ...

यदि नौकरी में प्रमोशन नहीं हो रहा है तो अपनाएं ये 7 खास

यदि नौकरी में प्रमोशन नहीं हो रहा है तो अपनाएं ये 7 खास उपाय
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि नौकरी में आपकी मेहनत, प्रतिभा और वरिष्ठता के बावजूद मनचाही ...

क्या आप जानते हैं सनातन परंपरा के यह 16 संस्कार

क्या आप जानते हैं सनातन परंपरा के यह 16 संस्कार
व्यास स्मृति में सोलह संस्कारों का वर्णन हुआ है। हमारे धर्मशास्त्रों में भी मुख्य रूप से ...

ज्योतिष की एक अनूठी शैली नंदी नाड़ी, पढ़ें क्या हैं ...

ज्योतिष की एक अनूठी शैली नंदी नाड़ी, पढ़ें क्या हैं विशेषताएं
भगवान शंकर के गण नंदी द्वारा जिस ज्योतिष विधा को जन्म दिया गया उसे नंदी नाड़ी ज्योतिष के ...

ग्रह कैसे असर डालते हैं हम पर, आइए पढ़ें रोचक जानकारी

ग्रह कैसे असर डालते हैं हम पर, आइए पढ़ें रोचक जानकारी
दूर बैठे ग्रह नक्षत्र कैसे मानव जीवन पर प्रभाव डाल सकते हैं? अक्सर यह सवाल मनुष्य के ...

भारत में हुआ है ज्योतिष का उदय, जानिए ज्योतिष के 10 महान ...

भारत में हुआ है ज्योतिष का उदय, जानिए ज्योतिष के 10 महान ग्रंथ
ज्योतिष का उदय भारत में हुआ, क्योंकि भारतीय ज्योतिष शास्त्र की पृष्ठभूमि 8000 वर्षों से ...

भगवान सूर्यदेव की 10 बातें जो आप नहीं जानते...

भगवान सूर्यदेव की 10 बातें जो आप नहीं जानते...
सूर्यस्वरूप सृष्टि में सबसे पहले प्रकट हुआ इसलिए इसका नाम आदित्य पड़ा।