वैशाख मास में पड़ रहे हैं ये खास तीज-त्योहार, आप भी जानिए

Tyohar
 
* गरीबी व दरिद्रता दूर करता हैं वैशाख का महीना... 
 
इस माह किए गए पुण्य कार्य गरीबी व दरिद्रता को दूर करते हैं। मार्च का महीना बीत चुका है और अब अप्रैल का महीना शुरू हो चुका है। मार्च माह की तरह इस माह भी कई व्रत और त्योहार आएंगे। आइए जानते हैं पूरे अप्रैल अर्थात वैशाख (बैशाख मास) महीने में पड़ने वाले व्रत और त्योहारों के बारे में। 
 
वैशाख कृष्ण पक्ष 1 से 16 तक तथा वैशाख कृष्ण पक्ष 17 से 30 अप्रैल 2018 तक रहेगा।
 
वैशाख का महीना सावन माह के समान पुण्यदायी होता है। इस माह किए गए पुण्य कार्य गरीबी व दरिद्रता को दूर करते हैं। इसके साथ ही मनोवांछित फलों की प्राप्ति भी होती है। वैशाख को अक्षय फल प्राप्ति वाला महीना भी कहा जाता है।
 
दान-पुण्य का महत्व
 
वैशाख माह में दान-पुण्य का विशेष महत्व है। पवित्र नदियों में स्नान करने और कथा पूजन करना चाहिए। इसके बाद सामर्थ्य अनुसार दान अवश्य करें, खासकर सत्तू और मटके का दान करना जीवन की कठिनाइयों को दूर करने के अचूक उपाय बताए गए हैं।
 
1. रविवार : वैशाख प्रारंभ, उत्तर, बैंक अवकाश, ईस्टर
3. मंगलवार : संकष्टी चतुर्थी
8. रविवार : कालाष्टमी
12. बृहस्पतिवार : वरूथिनी एकादशी, वल्लभाचार्य जयंती
13. शुक्रवार : प्रदोष व्रत
14. शनिवार : मासिक शिवरात्रि, सोलर नववर्ष, मेष संक्रांति, बैसाखी, पुथन्डू, अंबेडकर जयंती
15. रविवार : दर्श अमावस्या, विषु कानी, पहेला वैशाख
16. सोमवार : वैशाख अमावस्या, सोमवती अमावस
17. मंगलवार : चन्द्र दर्शन
18. बुधवार : परशुराम जयंती, अक्षय तृतीया, वर्षीतप पारणा, मातंगी जयंती, मासिक कार्तिगाई
19. बृहस्पतिवार : विनायक चतुर्थी, रोहिणी व्रत
20. शुक्रवार : शंकराचार्य जयंती, सूरदास जयंती
21. शनिवार : स्कंद षष्ठी, रामानुज जयंती
22 रविवार : भानु सप्तमी, गंगा सप्तमी
23. सोमवार : मासिक दुर्गाष्टमी, बगलामुखी जयंती
24. मंगलवार : सीता नवमी
25. बुधवार : महावीर स्वामी कैवल्य ज्ञान
26. बृहस्पतिवार : मोहिनी एकादशी, परशुराम द्वादशी, थ्रिस्सूर पूरम
27 शुक्रवार : प्रदोष व्रत
28 शनिवार : नृसिंह जयंती, छिन्नमस्ता जयंती
29 रविवार : कूर्म जयंती, पूर्णिमा उपवास
30 सोमवार : वैशाख पूर्णिमा, बुद्ध पूर्णिमा, चित्रा पूर्णनामी।

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

राशिफल

अतिथि देवो भव:, जानिए अतिथि को देवता क्यों मानते हैं?

अतिथि देवो भव:, जानिए अतिथि को देवता क्यों मानते हैं?
अतिथि कौन? वेदों में कहा गया है कि अतिथि देवो भव: अर्थात अतिथि देवतास्वरूप होता है। अतिथि ...

यह रोग हो सकता है आपको, जानिए 12 राशि अनुसार

यह रोग हो सकता है आपको, जानिए 12 राशि अनुसार
12 राशियां स्वभावत: जिन-जिन रोगों को उत्पन्न करती हैं, वे इस प्रकार हैं-

वास्तु : खुशियों के लिए जरूरी हैं यह 10 काम की बातें

वास्तु : खुशियों के लिए जरूरी हैं यह 10 काम की बातें
रोजमर्रा में हम ऐसी गलतियां करते हैं जो वास्तु के अनुसार सही नहीं होती। आइए जानते हैं कुछ ...

कैसे करें गर्भाधान संस्कार, पढ़ें ज्योतिषीय जानकारी...

कैसे करें गर्भाधान संस्कार, पढ़ें ज्योतिषीय जानकारी...
श्रेष्ठ संतान के जन्म के लिए आवश्यक है कि 'गर्भाधान' संस्कार श्रेष्ठ मुहूर्त में किया ...

शुक्र आया अपनी राशि में, क्या होगा 12 राशियों के जीवन पर

शुक्र आया अपनी राशि में, क्या होगा 12 राशियों के जीवन पर असर
कला, धन, सौन्दर्य के कारक ग्रह शुक्र ने 20 अप्रैल, शुक्रवार को सुबह 2 बजे वृषभ राशि में ...

नृसिंह जयंती 2018 : क्या करें इस दिन, जानें 7 काम की ...

नृसिंह जयंती 2018 : क्या करें इस दिन, जानें 7 काम की बातें...
वैशाख महीने के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी को नृसिंह जयंती व्रत किया जाता है। वर्ष 2018 में यह ...

अपार धन चाहिए तो जपें श्रीगणेश के ये चमत्कारिक मंत्र

अपार धन चाहिए तो जपें श्रीगणेश के ये चमत्कारिक मंत्र
श्रीगणेश की आराधना को लेकर कुछ ऐसे तथ्य हैं, जिनसे आप अब तक अंजान रहे। जी हां, आप अगर ...

बहुत फलदायी है मोहिनी एकादशी, जानें व्रत का महत्व...

बहुत फलदायी है मोहिनी एकादशी, जानें व्रत का महत्व...
संसार में आकर मनुष्य केवल प्रारब्ध का भोग ही नहीं भोगता अपितु वर्तमान को भक्ति और आराधना ...

शत्रु और खतरों से सुरक्षा करते हैं ये मंत्र, अवश्य पढ़ें...

शत्रु और खतरों से सुरक्षा करते हैं ये मंत्र, अवश्य पढ़ें...
बौद्ध धर्म को भला कौन नहीं जानता। बौद्ध धर्म भारत की श्रमण परंपरा से निकला महान धर्म ...

24 अप्रैल 2018 का राशिफल और उपाय...

24 अप्रैल 2018 का राशिफल और उपाय...
बुरी सूचना से व्यथा रहेगी। दौड़धूप अधिक रहेगी। झंझटों में न पड़ें। व्यवसाय धीमा चलेगा। ...