Widgets Magazine

गायत्री जयंती पर करें पितृदोष और कालसर्प दोष का निवारण


 
 
* गायत्री मंत्र से भगवान शिव की आराधना करें... 
 
-  पं. सुरेन्द्र बिल्लौरे
 
भगवान शिव सृष्टि के संहारकर्ता हैं। सृष्टि के र‍चयिता ब्रह्मा पालनकर्ता, श्री हरि विष्णु कल्याण करने वाले देवता हैं। ऐसी वेद, पुराण एवं विद्वानों की मान्यता है एवं सृष्टि का संचालन होता है। मनुष्य प्रभु की आराधना किसी भी रूप में करता चला आ रहा है। भारतीय मनुष्य शिव को कई रूपों में भजता है, पूजता है और मनाता है।
 
भगवान रुद्र साक्षात महाकाल हैं। सृष्टि के अंत का कार्य इन्हीं के हाथों है। सारे देव, दानव, मानव, किन्नर शिव की आराधना करते हैं। मानव के जीवन में जो कष्ट आते हैं, किसी न किसी पाप ग्रह के कारण होते हैं। भगवान शिव को सरल तरीके से मनाया जा सकता है। शिव को मोहने वाली अर्थात शिव को प्रसन्न करने वाली शक्ति 'गायत्री' (गायत्री मंत्र) है जो महाकाली भी कहलाती हैं।
 
किसी जातक को यदि जन्म पत्रिका में कालसर्प, एवं राहु-केतु तथा शनि से पीड़ा है अथवा ग्रहण योग है जो जातक मानसिक रूप से विचलित रहते हैं जिनको मानसिक शांति नहीं मिल रही हो तो उन्हें भगवान शिव की गायत्री मंत्र से आराधना करना चाहिए।
 
क्योंकि कालसर्प, पितृदोष के कारण राहु-केतु को पाप-पुण्य संचित करने तथा शनिदेव द्वारा दंड दिलाने की व्यवस्था भगवान शिव के आदेश पर ही होती है। इससे सीधा अर्थ निकलता है कि इन ग्रहों के कष्टों से पीड़ित व्यक्ति भगवान शिव की आराधना करे तो महादेवजी उस जातक (मनुष्य) की पीड़ा दूर कर सुख पहुंचाते हैं। भगवान शिव की शास्त्रों में कई प्रकार की आराधना वर्णित है परंतु का पाठ सरल एवं अत्यंत प्रभावशील है।
 
शिव गायत्री मंत्र निम्न है :-
 
'ॐ तत्पुरुषाय विदमहे, महादेवाय धीमहि तन्नो रुद्र: प्रचोदयात्।'
 
इस मंत्र का विशेष विधि-विधान नहीं है। इस मंत्र को किसी भी सोमवार से प्रारंभ कर सकते हैं। इसी के साथ सोमवार का व्रत करें तो श्रेष्ठ परिणाम प्राप्त होंगे।
 
शिवजी के सामने घी का दीपक लगाएं। जब भी यह मंत्र करें एकाग्रचित्त होकर करें, पितृदोष, एवं कालसर्प दोष वाले व्यक्ति को यह मंत्र प्रतिदिन करना चाहिए। सामान्य व्यक्ति भी करे तो भविष्य में कष्ट नहीं आएगा। इस जाप से मानसिक शांति, यश, समृद्धि, कीर्ति प्राप्त होती है। शिव की कृपा का प्रसाद मिलता है। कोई भी आराधना सच्चे मन से करें तो सफलता अवश्य मिलेगी। 
 

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

राशिफल

अक्षय तृतीया के 12 पौराणिक तथ्य जो आप नहीं जानते

अक्षय तृतीया के 12 पौराणिक तथ्य जो आप नहीं जानते
भारतीय पर्वों में अक्षय तृतीया पर्व का विशेष महत्व है। इस मुहूर्त को बेहद शुभ माना जाता ...

अक्षय तृतीया : कभी क्षय नहीं होता है इस दिन किया पुण्य

अक्षय तृतीया : कभी क्षय नहीं होता है इस दिन किया पुण्य
इस दिन जितना भी दान करते हैं उसका चार गुना फल प्राप्त होता है। इस दिन किए गए कार्य का ...

अक्षय तृतीया के 7 चमत्कारी उपाय, अवसर ना चूकें, जरूर आजमाएं

अक्षय तृतीया के 7 चमत्कारी उपाय, अवसर ना चूकें, जरूर आजमाएं
अक्षय तृतीया पर कई उपाय आजमाए जाते हैं। पढ़ें 5 सटीक उपाय, जो हर संकट से बचाए. ...

अक्षय तृतीया पर किए जाते हैं यह 14 दान, जरूर पढ़ें

अक्षय तृतीया पर किए जाते हैं यह 14 दान, जरूर पढ़ें
जो लोग इस दिन अपने सौभाग्य को दूसरों के साथ बांटते हैं वे ईश्वर की असीम अनुकंपा पाते हैं। ...

वैशाख मास में पड़ रहे हैं ये खास तीज-त्योहार, आप भी जानिए

वैशाख मास में पड़ रहे हैं ये खास तीज-त्योहार, आप भी जानिए
वैशाख का महीना सावन माह के समान पुण्यदायी होता है। इस माह किए गए पुण्य कार्य गरीबी व ...

18 अप्रैल 2018 के शुभ मुहूर्त

18 अप्रैल 2018 के शुभ मुहूर्त
शुभ विक्रम संवत- 2075, अयन- उत्तरायन, मास- वैशाख, पक्ष- शुक्ल, हिजरी सन्- 1439, मु. मास- ...

अक्षय तृतीया पर क्यों करते हैं कुंभ दान, पढ़ें महत्व

अक्षय तृतीया पर क्यों करते हैं कुंभ दान, पढ़ें महत्व
अक्षय तृतीया पर कुंभ का पूजन व दान अक्षय फल प्रदान करता है। धर्मशास्त्र की मान्यता अनुसार ...

अगर आप भी हैं इन बातों से परेशान तो अक्षय तृतीया पर ऐसे ...

अगर आप भी हैं इन बातों से परेशान तो अक्षय तृतीया पर ऐसे करें पूजन
पुराणों के अनुसार अक्षय तृतीया के दिन सूर्योदय से पूर्व उठकर स्नान, दान, जप, स्वाध्याय ...

अक्षय तृतीया पर ऐसे करें पूजन, आज अवश्य करें ये कार्य...

अक्षय तृतीया पर ऐसे करें पूजन, आज अवश्य करें ये कार्य...
यदि तृतीया मध्याह्न से पहले शुरू होकर प्रदोष काल तक रहे तो श्रेष्ठ मानी जाती है। इस दिन ...

अक्षय तृतीया पर ऐसे करें ग्रहों की शांति के दान...

अक्षय तृतीया पर ऐसे करें ग्रहों की शांति के दान...
कष्ट हमारे कर्मफल हैं तथा जन्म कुंडली में कर्म का दर्पण है। अत: यह जानकर किसी योग्य ...