माइग्रेन का दर्द और घरेलू उपचार

WDWD
सभी जानते हैं कि माइग्रेन में होने वाला सिरदर्द कितना तकलीफदायक होता है। यह दर्द अचानक ही शुरू होता है और अपने आप ही ठीक भी हो जाता है। इसके शुरू होने के कोई खास लक्षण नहीं नज़र आते और ना ही यह बताया जा सकता है कि यह दर्द कितनी देर तक बना रहेगा।

इसके निवारण के लिए डॉक्टर द्वारा कई दवाईयाँ दी जाती हैं लेकिन इन दवाइयों का लगातार उपयोग हमारे शरीर को नुकसान भी पहुँचा सकता है। इनको लगातार लेते रहने से इन दवाओं की शरीर को आदत भी हो जाती है। इस बीमारी के लिए कई भी किए जा सकते हैं
कुछ घरेलू और आसान उपाय जिनसे माइग्रेन में आराम मिल सकता है, इस प्रकार हैं-

सिर की मालिश -

हाथों के स्पर्श से मिलने वाला आराम और प्यार किसी भी दवा से ज़्यादा असर करता है। इस दर्द में अगर सिर, गर्दन और कंधों की मालिश की जाए तो यह इस दर्द से राहत दिलाने बहुत मददगार साबित हो सकता है। इसके लिए हल्की खुश्बू वाले अरोमा तेल का प्रयोग किया जा सकता है।

धीमी गति से साँस लें -

अपनी साँस की गति को थोड़ा धीमा करके, लंबी साँसे लेने की कोशिश करें। यह तरीका आपको दर्द के साथ होने वाली बेचैनी से राहत दिलाने में सहायता करेगा
  अरोमा थेरेपी माइग्रेन के दर्द से राहत पाने के लिए आजकल खूब पसंद की जा रही है। इस तरीके में हर्बल तेलों के एक तकनीक के माध्यम से हवा में फैला दिया जाता है या फिर इसको भाप के ज़रिए चेहरे पर डाला जाता है...      


ठंडे या गर्म पानी की मसाज-

एक तौलिये को गर्म पानी में डुबाकर,उस गर्म तौलिये से दर्द वाले हिस्सों की मालिश करें। कुछ लोगों को ठंडे पानी से की गई इसी तरह की मालिश से भी आराम मिलता है। इसके लिए आप बर्फ के टुकड़ों का उपयोग भी कर सकते हैं

अरोमा थेरेपी-

अरोमा थेरेपी माइग्रेन के दर्द से राहत पाने के लिए आजकल खूब पसंद की जा रही है। इस तरीके में हर्बल तेलों के एक तकनीक के माध्यम से हवा में फैला दिया जाता है या फिर इसको भाप के ज़रिए चेहरे पर डाला जाता है
WD|
डॉ रश्मि सुध
इसके साथ हल्का म्यूज़िक भी चलाया जाता है जो दिमाग को सुकून पहुँचाता है।


और भी पढ़ें :