दूरस्थ शिक्षा से पाएं करियर में कामयाबी

- वेबदुनिया डेस्क

WD|
FILE
ऐसे युवा जो नौकरी करते हुए या अन्य किसी अन्य कारण से अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कर पाते हैं या ऐसे लोग जिनमें लगातार पढ़ने की ललक रहती है, ऐसे लोगों के लिए (दूरस्थ शिक्षा पाठ्यक्रम) एक बेहतर विकल्प है।

ये ओपन विद्यालय घर बैठे विद्यार्थियों को पाठ्‍यक्रम उपलब्ध कराकर उन्हें डिग्रियां प्रदान करने हैं। इंदिरा गांधी ओपन यूनिवर्सिटी (इग्नू) दूरस्थ शिक्षा का देश में सबसे बड़ा संस्थान है। इसके अलावा भी कई प्रायवेट संस्थान हैं जो स्टूडेंट्‍स को डिग्रियां प्रदान करते हैं। इन विश्वविद्यालय या संस्थानों को यूजीसी द्वारा मान्यता भी प्राप्त होती है।
कैसे होती है पढ़ाई- स्टूडेंट जिस भी कोर्स में प्रवेश लेते हैं, उस कोर्स का पाठ्‍यक्रम डाक या कूरियर द्वारा उसके पास भेज दिया जाता है। इनके कई बड़े शहरों में संपर्क केंद्र होते हैं, जहां कुछ दिनों की क्लास लगाकर पढ़ाया भी जाता है। इसके अलावा ‍जिन शहरों में केंद्र नहीं होते वहां पर टेलीकॉन्फेंसिंग के ‍जरिए पढ़ाया जाता है। कम्यूटर पर ऑनलाइन पर स्टडी मटेरियल उपलब्ध रहता है।
कोर्स- इन में डिप्लोमा, बैचलर डिग्री और पीजी और मैनेजमेंट कोर्स चलाए जाते हैं। कई ‍डिस्टेंस लर्निंग सेंटर प्रोफेशनल कोर्स भी चलाते हैं जो रोजगार देने वाले होते हैं। जैसे जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन, लाइब्रेरी साइंस, नर्सिंग कोर्सेस, कम्प्यूटर कोर्सेस आदि।
प्रवेश में क्या रखें सावधानी- एडमिशन से पहले कोर्स के बारे में संपूर्ण जानकारी लें। कोर्स की फीस, एक्जाम पैटर्न, कोर्स की किन विषयों में है आदि। सबसे महत्वपूर्ण बात विश्वविद्यालय या संस्थान यूजीसी से मान्यता प्राप्त है या नही, इसकी भी खोजबीन कर लें।


और भी पढ़ें :