कहीं आपके घर तो नहीं आ रहे ऐसे मेहमान


भारत में 'अतिथी देवो भव' की परंपरा है। आपके में भी मेहमानों के आने जाने का सिलसिला शुरू हो जाएगा। ऐसे में आपका मेहमानों का जमकर सत्कार करना बनता ही है। हम भी अपने मेहमानों के आने की राह तकते हैं। उनके आने पर जमकर खुश भी होते हैं।
 
 
क्या आपको भी है ऐसे मेहमानों का अनुभव जो बन जाते हैं गले की हड्डी। ऐसे भी होते हैं जिनके आपने पर जलजला आ जाता है। ये मेहमान आते तो वक्त पर हैं परंतु इनका जाने का कोई समय नहीं। न मौके की नज़ाकत समझते हैं और न ही आपकी जरूरत। परंतु फिर भी मेहमान तो मेहमान हैं। ये आएं तो इनका भी करें सत्कार। आइए जानें हम किन मेहमानों का कर रहे हैं जिक्र। कहीं आपके घर भी तो नहीं आ रहे हैं इस तरह के मेहमान, जो कर देंगे आपके लिए मुसीबत खड़ी। 
 
1. ऐसे मेहमान जो कभी नहीं जाते! 
 
ये आ गए कि मुसीबत आ गई। जैसे मुसीबत कभी जाती नहीं दिखती, ऐसे ही ये भी जमे हुए ही नजर आते हैं। आप बार बार घड़ी देख रहे हैं परंतु उनका टिकने का मन है। 
 
2. इन्हें हर 2 घंटे में कुछ खाना होता है।  
 
अब अगर लंबी सीटिंग होगी तो आपको दुबारा से स्नैक या चाय के लिए पूछेंगे। इन्हें बीपी और हार्ट जैसी समस्याएं हैं जिनके कारण दवाई लेनी है। कुछ खाए बिना दवाई नहीं खा सकते। चाय हर 2 घंटे में न मिले तो इनका सिरदर्द हो जाता है। जाइए कुछ खाने का इंतजाम करिए। थोड़ी चाय भी हो ही जाए। 
 
3. आपके घर को छोटा कहने वाले मेहमान।  
 
इनका स्टेटस बहुत हाई है। ये घर में नहीं मेंशन में रहते हैं। आपको कई बार कहने से नहीं चूकेंगे कि आपका घर छोटा सा है, परंतु अच्छा है। आपने बढ़िया मैनेज किया है वर्ना ये तो इतने छोटे घर में काम ही न चला पाते। 
 
4. गॉसिप की दुकान मेहमान। 
 
ये मेहमान चलते फिरते रेडियो स्टेशन हैं। इनके गॉसिप बुलेटिन के बाद, गॉसिप चर्चा और एनालिसिस होती है। ये अनाउंसमेंट करते हैं जिसमें इनकी राय एक्सपर्ट ओपिनियन है। आपके घर में कदम रखने के साथ ही इनकी खबरें चालू हो जाती हैं, चाहे आपका इंटरस्ट हो या नहीं। 
 
5. आपके प्लान का इन्हें पता होना ही चाहिए। 
 
आप अभी शादी के बारे में बात करने के मूड में नहीं। जब भी आपके घर में शादी होगी, इन्हें आप जरूर बताएंगे। मिलने का मौका और कारण कुछ भी हो, कहीं बात चल रही है कि नहीं इन्हें जरूर जानना है।> > इन्हें घर पहुंचाना है आपकी जिम्मेदार, जानिए अगले पेज पर क्यों....  
 
 

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :