Widgets Magazine Widgets Magazine
Widgets Magazine
Widgets Magazine

उबरा बाजार, सेंसेक्स 241 अंक चढ़ा

पुनः संशोधित बुधवार, 1 मार्च 2017 (17:53 IST)
मुंबई। चालू वित्त वर्ष में नोटबंदी का अर्थव्यवस्था पर विशेष असर नहीं होने तथा दिसंबर में  समाप्त तीसरी तिमाही में आर्थिक विकास दर 7.0 प्रतिशत रहने के साथ ही वैश्विक स्तर से  मिले सकारात्मक संकेतों के बल पर बुधवार को घरेलू 2 दिनों की गिरावट से  उबरने में सफल रहा और इस दौरान सेंसेक्स 241 अंक और निफ्टी 66 अंक चढ़ने में सफल  रहे। 
 
बीएसई का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 241.17 अंक चढ़कर 28984.49  अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 66.20 अंक बढ़कर 8,900 अंक  के मनोवैज्ञानिक स्तर के पार 8945.80 अंक पर पहुंच गया। इस दौरान बीएसई का मिडकैप  0.13 प्रतिशत अर्थात 17.34 अंक उठकर 13,569.56 अंक पर और स्मॉलकैप 0.45 फीसदी  अर्थात 62.01 अंक बढ़कर 13,752.82 अंक पर रहा। 
 
सरकार ने मंगलवार को बाजार बंद होने के बाद चालू वित्त वर्ष के आर्थिक विकास का दूसरा  अग्रिम अनुमान जारी किया जिसमें कहा गया कि नोटबंदी के बाद आर्थिक गतिविधियों में आई  सुस्ती के बावजूद चालू वित्त वर्ष में आर्थिक विकास दर 7.1 प्रतिशत रहने का अनुमान है और  नोटबंदी वाली तीसरी तिमाही में आर्थिक विकास दर 7.0 प्रतिशत दर्ज की गई है।
 
बुधवार को बाजार खुलते ही इसका असर दिखा और बीएसई का सेंसेक्स लिवाली के बल पर  बढ़त के साथ 28,849.04 अंक पर खुला, हालांकि भोजनावकाश के बाद यह दिवस के निचले  स्तर 28,824.17 अंक पर उतरा और इसके बाद शुरू हुई लिवाली के बल पर यह 29,000 अंक  के मनोवैज्ञानिक स्तर को पार कर 29,029.17 अंक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया। आखिर  में यह मंगलवार के 28,743.32 अंक की तुलना में 0.84 प्रतिशत अर्थात 241.17 अंक  उछलकर 28,984.49 अंक पर रहा।
 
इसी तरह से एनएसई का निफ्टी 25 अंकों की बढत लेकर 8,900 अंक के स्तर के पार  8,904.40 अंक पर खुला, हालांकि बिकवाली के कारण यह 8,898.60 अंक के निचले स्तर  तक लुढ़का और लिवाली के बल पर यह 8,960.80 अंक के उच्चतम स्तर तक चढ़ा। अंत में  यह पिछले दिवस के 8,879.60 अंक की तुलना में 0.75 प्रतिशत अर्थात 66.20 अंक बढ़कर  8945.80 अंक पर रहा। बीएसई में कुल 3,043 कंपनियों में कारोबार हुआ जिनमें से 1,644  बढ़त में और 1,202 गिरावट में रहें जबकि 197 पिछले दिवस के स्तर पर टिके रहे। 
 
वैश्विक स्तर पर लगभग तेजी रही। इस दौरान ब्रिटेन का एफटीएसई 0.73 प्रतिशत, जापान का  निक्की 1.44 प्रतिशत, दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.29 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसेंग 0.15  प्रतिशत और चीन का शंघाई कंपोजिट 0.15 प्रतिशत की बढ़त में रहे।
 
घरेलू स्तर पर अधिकांश समूहों में तेजी दर्ज की गई। इस समूहों में से सबसे अधिक रियल्टी  में 3.46 प्रतिशत की बढ़त रही। इसी तरह से धातु 1.91 प्रतिशत, एफएमसीजी 1.30 प्रतिशत,  बैंकिंग 0.96 प्रतिशत, वित्त 0.88 प्रतिशत, हेल्थकेयर 0.87 प्रतिशत, आईटी 0.81 प्रतिशत,  ऑटो 0.28 प्रतिशत और टेक 0.54 प्रतिशत शामिल हैं।
 
तेल एवं गैस में सबसे अधिक 0.91 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई। इसके साथ गिरने वाले  समूहों में एनर्जी 0.44 प्रतिशत, टेलीकॉम 0.30 प्रतिशत, यूटिलिटी 0.54 प्रतिशत, सीडी 0.19  प्रतिशत और पॉवर 0.35 प्रतिशत शामिल हैं।
 
सेंसेक्स की कंपनियों में से बढ़त में रहने वालों में टाटा स्टील 3.66 प्रतिशत, महिंद्रा 3.13  प्रतिशत, डॉ. रेड्डी 2.56 प्रतिशत, आईटीसी 2.46 प्रतिशत, सन फार्मा 2.26 प्रतिशत, एचडीएफसी 1.69 प्रतिशत, हीरो मोटोकार्प 1.56 प्रतिशत, एक्सिस बैंक 1.41 प्रतिशत, इंफोसिस 1.25 प्रतिशत, हिन्दुस्तान यूनिलीवर 1.11 प्रतिशत, स्टेट बैंक 1.02 प्रतिशत, आईसीआईसीआई बैंक 0.94 प्रतिशत, सिप्ला 0.80 प्रतिशत, एशियन पेंट्स 0.62 प्रतिशत, टीसीएस 0.55 प्रतिशत, बजाज ऑटो 0.50 प्रतिशत, एलएंडटी 0.34 प्रतिशत, पॉवर ग्रिड 0.29 प्रतिशत, ओएनजीसी 0.23 प्रतिशत, अदानी पोर्ट्स 0.08 प्रतिशत और एचडीएफसी बैंक 0.05 प्रतिशत शामिल हैं।
 
गिरावट में रहने वालों में गेल 1.93 प्रतिशत, एनटीपीसी 1.87 प्रतिशत, टाटा मोटर्स 1.55  प्रतिशत, एयरटेल 0.70 प्रतिशत, रिलायंस 0.33 प्रतिशत, कोल इंडिया 0.25 प्रतिशत, ल्यूपिन  0.20 प्रतिशत, विप्रो 0.07 प्रतिशत और मारुति 0.03 प्रतिशत शामिल हैं। (वार्ता)
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine
Widgets Magazine
Widgets Magazine Widgets Magazine
Widgets Magazine