भारतीय मुक्केबाजों का धमाल, नौ मुक्केबाजों के पदक पक्के

पुनः संशोधित शनिवार, 14 जुलाई 2018 (15:02 IST)
नई दिल्ली। भारतीय मुक्केबाजों का सर्बिया के सुबोटिका में चल रहे गोल्डन ग्लव वोजवोदिना युवा में शानदार प्रदर्शन जारी रहा और देश के नौ मुक्केबाजों ने तीसरे दिन सेमीफाइनल में पहुंचकर पदक पक्के किए। इन नौ में से छह महिलाएं जबकि तीन पुरुष मुक्केबाज हैं जबकि एक मुक्केबाज आस्था पाहवा (75 किग्रा) बीती रात क्वार्टर फाइनल चरण में बाहर हो गईं।

नीतू (48 किग्रा), दिव्या पवार (54 किग्रा), ज्योति (51 किग्रा), अनामिका (51 किग्रा), साक्षी (57 किग्रा) और मनीषा (64 किग्रा) ने महिलाओं के ड्रॉ में पदक दौर में प्रवेश किया। पुरुषों की स्पर्धा में बी बरुण सिंह (49 किग्रा), भावेश कट्टीमणि (52 किग्रा) और विजयदीप (69 किग्रा) ने कम से कम कांस्य पदक पक्के किए।

महिला वर्ग की शुरुआत नीतू की बाउट से हुई जिन्होंने थाईलैंड की निलाडा मीकोन को पराजित किया। दिव्या ने भी हंगरी की बेटिना किस पर 5-0 और साक्षी ने क्रोएशिया की निकोलिना कासिच पर इसी अंतर से जीत दर्ज की। ज्योति को इटली की जार्जिया रास ने चुनौती दी, लेकिन अंत में उन्होंने 4-1 के स्कोर से जीत दर्ज की। अनामिका ने कजाखस्तान की झानसाया एबड्रेमोवा को शिकस्त दी।

मनीषा ने दबदबा बनाते हुए हंगरी की वेरोनिका विलास को 5-0 से हराया। फिर पुरुषों की स्पर्धा में बरुण को मैसेडोनिया के बोबान मिजालेव को हराने में पसीना बहाना पड़ा। एशियाई पदकधारी भावेश ने हंगरी के टामस बोरसोस को, जबकि विजयदीप ने बोस्निया हर्जेगोविना के ड्रेगोलजुब कुलिच को पराजित किया। छह अन्य भारतीय मुक्केबाजों ने कल सेमीफाइनल में जगह बनाई थी, जिससे कुल 15 मुक्केबाज अंतिम चार में पहुंच गए हैं। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :