Widgets Magazine

प्यार को वरदान बनाएँ अभिशाप नहीं

WDWD
प्यार हो गया है, करें उसे निभाएँ भी। अपने प्यार से कोई समझौता नहीं करना चाहते, न करें लेकिन उसके साथ-साथ अपने करियर पर भी पूरा-पूरा ध्यान दें। प्यार कर लिया, उसी लड़की या लड़के से शादी भी कर ली लेकिन करियर बर्बाद हो गया तो क्या काम का रहा वह प्यार। यदि यही प्यार आपके करियर में रोड़ा बन गया तो अभिशाप है और सहायक बना तो वरदान सिद्ध होगा। इसलिए अपने बनाएँ, अभिशाप नहीं।

वेलेंटाइन डे के दिन राज ने श्वेता के समक्ष अपने प्यार का इजहार किया। श्वेता ने बोला सचमुच मुझसे प्यार करते हो तो राज का कहना था अपनी जान से ज्यादा। श्वेता बोली अपने पैरों पर खड़े होकर दिखा दो तो मैं जरूर तुम्हें मिलूँगी वरना एक ख्वाब समझकर मुझे भूल जाना।

राज के समझ में नहीं आ रहा था कि इस बात पर उसे आश्चर्य हो, खुशी हो या मान ले कि उसका दिल टूट गया है। जब श्वेता की सहेलियों को इस बात का पता चला और उससे जानना चाहा कि राज को ऐसा कहने का मतलब क्या है? तब उसने बताया 'चाहती तो मैं भी राज को हूँ लेकिन इसके साथ-साथ हमें अपनी पढ़ाई पर भी पूरा-पूरा ध्यान देना है। अपने माता-पिता के सपनों को पूरा करना है।'

कहीं इस प्यार के चक्कर में पड़कर हम अपने लक्ष्य से भटक गए तो किस मुँह से किसी को बता पाएँगे कि हमने प्यार किया। इसलिए पहले करियर जरूरी है। श्वेता की सहेलियों को भी उसके फैसले पर बड़ा गर्व हुआ।

  आज उन दोनों को अपने प्यार पर नाज है और उनका प्यार दूसरों के लिए भी उदाहरण बना कि दोनों ने प्यार को अपने करियर में बाधा नहीं बनने दिया और प्यार को वरदान बनाया।      
राज की चाहत सच्ची थी। उसने बहुत अच्‍छे नंबरों के साथ अपनी एमसीए की डिग्री ली और हैदराबाद की एक बड़ी आईटी कंपनी में उसे जॉब मिला। वहीं श्वेता को भी अच्छी रैंक मिली। श्वेता के माता-पिता ने उसकी शादी की बात शुरू करने के लिए जब उसकी राय चाही तब उसने अपने प्यार का इजहार कर दिया और राज के बारे में बताया।

समय आने पर श्वेता के माता-पिता ने मिलकर दोनों की शादी तय कर दी और राजी-खुशी जीवन बिताने लगे। सही किया ना दोस्तो राज और श्वेता ने। दोनों को एक-दूसरे का प्यार भी मिला और सफल वैवाहिक जीवन भी वे जीने लगे।

WD|
विशाल मिश्रा
आज उन दोनों को अपने प्यार पर नाज है और उनका प्यार दूसरों के लिए भी उदाहरण बना कि दोनों ने प्यार को अपने करियर में बाधा नहीं बनने दिया और प्यार को वरदान बनाया।

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

गर्भावस्था में स्ट्रेच मार्क्स से बचने के 4 आसान तरीके...

गर्भावस्था में स्ट्रेच मार्क्स से बचने के 4 आसान तरीके...
महिलाओं में गर्भावस्था के दौरान स्ट्रेच मार्क्स होना एक आम समस्या है, क्योंकि इस दौरान ...

लू से हो सकती है मौत, पढ़ें 10 काम की बातें

लू से हो सकती है मौत, पढ़ें 10 काम की बातें
गर्म हवाएं, जो लू कहलाती हैं, आपके लिए बेहद खतरनाक हो सकती हैं। ये आपके शरीर के तापमान को ...

8 रसीले ज्यूस, सेहत को रखे चुस्त

8 रसीले ज्यूस, सेहत को रखे चुस्त
केवल पानी ही प्यास बुझाने के लिए काफी नहीं होता। शरीर में नमी अधिक देर तक बनी रहे इसके ...

गर्मियों में रखें अपने क्यूट 'पपी' का ख्याल

गर्मियों में रखें अपने क्यूट 'पपी' का ख्याल
जानवरों के लिए गर्मियां बहुत तकलीफदेह होती हैं इसलिए कुछ आसान उपाय करके हम अपने पालतू ...

यह 6 रसीले फल गर्मियों में देंगे सेहत और सुंदरता

यह 6 रसीले फल गर्मियों में देंगे सेहत और सुंदरता
जानिए गर्मी के मौसम में आने वाले उन फलों को, जो गर्मी में रखते हैं हमारा ध्यान -

यह है मां बगलामुखी की पौराणिक और प्रामाणिक कथा, जरूर पढ़ें

यह है मां बगलामुखी की पौराणिक और प्रामाणिक कथा, जरूर पढ़ें
सतयुग में एक समय भीषण तूफान उठा। इसके परिणामों से चिंतित हो भगवान विष्णु ने तप करने की ...

मां बगलामुखी करती हैं नन्हे बच्चों की रक्षा, जानिए कैसे

मां बगलामुखी करती हैं नन्हे बच्चों की रक्षा, जानिए कैसे
छोटे बच्चे नाजुक होते हैं। मां बगलामुखी का यह रक्षा मंत्र और प्रयोग विधि उन्हें हर संकट ...

तंत्र की देवी है मां बगलामुखी, हर आपदा से बचाता है उनका ...

तंत्र की देवी है मां बगलामुखी, हर आपदा से बचाता है उनका मंत्र
मां बगलामुखी यंत्र चमत्कारी सफलता तथा सभी प्रकार की उन्नति के लिए सर्वश्रेष्ठ माना गया ...

मां बगलामुखी की इस उपासना से मिलेगी चमत्कारी शक्तियां

मां बगलामुखी की इस उपासना से मिलेगी चमत्कारी शक्तियां
बगलामुखी साधना के दौरान हवन में दूधमिश्रित तिल व चावल डालने पर धन, संपत्ति और ऐश्वर्य की ...

जब राजा विक्रमादित्य को दर्शन दिए मां बगलामुखी ने, पढ़ें

जब राजा विक्रमादित्य को दर्शन दिए मां बगलामुखी ने, पढ़ें कथा
राजा विक्रमादित्य ने मां बगलामुखी की आराधना शुरू कर दी। लेकिन माता ने दर्शन नहीं दिए। ...